काली यंत्र आधार पर निर्मित है ये महाकाली मंदिर!

punjabkesari.in Friday, Apr 15, 2022 - 06:06 PM (IST)

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ
भारत देश में अनेकों मंदिर है लेकिन कुछ मंदिर ऐसे हैं जिससे जुड़ा रहस्य उन्हें खास बनाता है। आज हम आपको हमेशा की तरह फिर एक ऐसे मंदिर के बारे में बताने जा रहे हैं जिससे जुड़ी जानकारी बेहद दिलचस्प है। दरअसल हम बात कर रहे हैं, मंदिर मध्यप्रदेश की संस्कारधानी जबलपुर में स्थापित एक ऐसे मंदिर की जो काली यंत्र से जुड़ा हुआ है। जी, लोक मत है कि यहां महाकाली को समर्पित एक मंदिर स्थापित किया गया जो दरअसल कालीयंत्र पर निर्मित है। अब आप सोच रहे होंगे कि आखिर ऐसा कैसे और क्यों किया गया है। तो आइए विस्तारपूर्वक जानते हैं क्या इस मंदिर से जुड़ा तथ्य-
PunjabKesari Mahaklali Mandir Mahakali temple, kali yantra, mahakali facts, mahakali Temple madhya pradesh, Dharmik Sthal, Religious Place in India, Hindu Teerth Sthal, Dharm
बताया जाता है कि ये एक ऐसा मंदिर है जिसका निर्माण सिद्ध मंत्रों के आधार पर हुआ है, जिसका निर्माण अभी पूरा नहीं हुआ और अभी भी गुंबद ग्रहों और नक्षत्रों को ध्यान में रखते हुए इसको तैयार किया जा रहा है। मध्यप्रदेश की संस्कारधानी जबलपुर में स्थित माता महाकाली का यह मंदिर अपने आप में एकमात्र ऐसा मंदिर है जो काली यंत्र पर बना हुआ है। जानकारी के लिए बता दें यह मंदिर श्री सिद्ध महाकाली पीठ रैंगवा पाटन रोड पर स्थित है। जहां आए दिन श्रद्धालु श्रद्धाभाव से दर्शन करने आते हैं। मंदिर के पुजारियों की मानें यह मंदिर अपनी निर्माण शैली और माता महाकाली की प्रतिमा के लिए जाना चाहता है।
PunjabKesari Mahaklali Mandir Mahakali temple, kali yantra, mahakali facts, mahakali Temple madhya pradesh, Dharmik Sthal, Religious Place in India, Hindu Teerth Sthal, Dharm
मंदिर में मां महाकाली का रौद्र रूप विराजमान है, जिसे धार्मिक शास्त्रों उग्रता का प्रतीक माना गया है। हालांकि मंदिर में विराजमान माता की पूजा-अर्चना सौम्यता प्राप्ति के लिए की जाती है। बता दें इस मंदिर में माता महाकाली की पूजा केवल तंत्र मंत्र से नहीं होती बल्कि सामान्य रूप से भी की जाती है। कहा जाता है कि इसी के चलते इस जिसके चलते इस मंदिर में माता महा काली की प्रतिमा का मुख उत्तर दिशा में रखा गया है। मंदिर के निर्माण शैली की बात करें तो इस मंदिर का निर्माण काली यंत्र के आधार पर हुआ है और उसका काम अभी चल रहा है। मंदिर के निर्माण शैली की बात करें तो इस मंदिर का निर्माण काली यंत्र के आधार पर हुआ है और उसका काम अभी चल रहा है। गुम्बद पर काली यंत्र की स्थापित कि जा रही है। इस मंदिर की उचाई 57 फिट रहेंगी। मंदिर की चोटी पर स्थापित काली यंत्र मंदिर के भीतर आने वाले भक्तों को  सकारात्मक ऊर्जा प्रदान करेगा। 
PunjabKesari Mahaklali Mandir Mahakali temple, kali yantra, mahakali facts, mahakali Temple madhya pradesh, Dharmik Sthal, Religious Place in India, Hindu Teerth Sthal, Dharm
मंदिर का कोना कोना मंत्रों के आधार पर बनाया गया है जब इस मंदिर में मंत्रोच्चारण किया जाता है तो उसकी ध्वनि व कंपन को महसूस किया जा सकता है। जबलपुर के गढ़ाफाटक वाली महाकाली की तर्ज पर महाकाली के इस मंदिर में माता महाकाली की 17 फीट ऊंची प्रतिमा स्थापित की गई है। जिसकी सबसे विशेष बात यह है कि यह 17 फिट की प्रतिमा मात्र एक पत्थर में निर्मित है।

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Jyoti

Related News

Recommended News