करवाचौथ 2021: चंद्रमा को सफ़ेद पुष्प करें अर्पित, मैरिड लाइफ में आएगी खुशहाली

10/24/2021 8:07:27 AM

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ
अश्विन माह की कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि का व्रत करवा चौथ व्रत के रूप में पूरे भारतवर्ष में प्रचलित है सुहाग वह सौभाग्य का प्रतीक यह व्रत पति और पत्नी के पवित्र रिश्ते में अटूट प्रेम को दर्शाता है। इस दिन माता पार्वती शिवजी भगवान गणेश, चंद्रमा, और लक्ष्मी विष्णु की पूजा करने का विशेष महत्व है। इस दिन उपवास करने से 100 वर्षों तक सौभाग्य की प्राप्ति होती है। पत्ति के स्वस्थ व लंबे जीवन का वरदान पाने के लिए पत्नियां बड़ी श्रद्धा से इस व्रत को करते हैं। यह व्रत जितना पत्नियों के लिए प्रिय व उल्हास पूर्ण रहता है। 

उतना ही पति के लिए अपने प्रेम को दर्शाने और ज्योतिषीय महत्व से पत्नी जो कि शुक्र का कारक ग्रह है उसे प्रसन्न करने का अति उत्तम उपाय है। कितना शुभ संयोग होता है जहां एक और चंद्रमा का पूजन किया जाता है और उसी दिन शुक्र यानी कि स्त्रियां साज-सज्जा करके शुक्र को बलवान करती हैं। दोनों ग्रह ही धन और समृद्धि के लिए अति शुभ कारक हैं। इस बार करवाचौथ पर अत्यंत शुभ योग बन रहा है इस बार रोहिणी नक्षत्र में चंदरमा होंगे जो कि उनका सबसे प्रिय नक्षत्र है। 

इस दिन पति और पत्नी दोनों ही चंद्र देवता का पूजन करें जिससे कि उनके दांपत्य जीवन में प्रेम, समृद्धि, खुशहाली और धन की वर्षा हो-

चंद्रोदय होने पर चंद्रमा का सफेद पुष्पों से स्वागत करें। सफेद पुष्प चढ़ने से आपसी प्रेम मजबूत होगा।

चंद्र पूजन करते समय चावल, गंगाजल, दूध चढ़ाएं और कपूर जला कर आरती करें। ऐसा उपाय धन प्राप्ति के लिए अति उत्तम है।

मिठाई या खीर का भोग लगाएं। सूखे मेवे का प्रयोग ऐश्वर्य पूर्ण जीवन और सुखी दांपत्य जीवन देता है।

चंद्र दर्शन के समय अपने इष्ट का ध्यान ओर पूजन अवश्य करें।

नीमल
8847472411


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Jyoti

Related News

Recommended News