अपनी सुबह-शाम की पूजा में जरूर शामिल करें अपने कुल देवी-देवता की प्रतिमा

11/21/2019 3:23:15 PM

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ
हिंदू धर्म में पूजा-पाठ का बहुत महत्व होता है। कहते हैं कि सुबह-शाम में की गई पूजा घर से नकरात्मक ऊर्जा को हमेशा के लिए धीरे-धीरे खत्म कर देती है। लेकिन एक बात का ध्यान इसमें घर के हर सदस्य को रखना जरूरी है कि पूजा एकाग्र मन से की जा रही हो। ऐसे ही हमारे शास्त्रों में पूजा से जुड़े कुछ नियम बताए गए हैं, जिन्हें अगर कोई इंसान दूर कर ले तो उसकी पूजा व प्रार्थना भगवान जल्दी स्वीकार करते हैं। कई बार लोग पूजा करते समय कुछ ऐसी गलतियां कर लेते हैं, जिसके बारे में शायद उन्हें खुद भी पता नहीं चलता हो। 
PunjabKesari
शास्त्रों के अनुसार घर में रोज कुल देवता, कुल देवी, घर के वास्तु देवता आदि की भी पूजा जरूर करनी चाहिए।

किसी भी भगवान की पूजा में उनका आवाहन करना, ध्यान करना, आसन देना, स्नान करवाना, धूप-दीप जलाना, चावल, कुमकुम, चंदन, पुष्प, प्रसाद आदि अनिवार्य रूप से होना चाहिए। वरना वे नाराज हो सकते हैं। 

ध्यान रहे कि पूजा में प्रयोग किए जाने वाले चावल टूटे न हो और चावल चढ़ाने से पहले इन्हें हल्दी से पीला कर लें तो पहले से अधिक प्रभाव इसका बढ़ जाता है। 
PunjabKesari
पूजन में पान का पत्ता भी अर्पित किया जाता है। ध्यान रखें कि केवल पान का पत्ता अर्पित न करें, इसके साथ इलाइची, लौंग, गुलकंद आदि भी चढ़ाना चाहिए। पूरा बना हुआ पान अर्पित करेंगे तो श्रेष्ठ रहेगा।

देवी-देवताओं के सामने घी और तेल, दोनों के ही दीपक जलाने चाहिए। यदि आप प्रतिदिन घी का दीपक घर में जलाएंगे तो घर के कई वास्तु दोष दूर हो जाएंगे।

देवी-देवताओं को हार-फूल, पत्तियां आदि अर्पित करने से पहले एक बार साफ पानी से जरूर धो लेना चाहिए।
PunjabKesari,
घर में या मंदिर में जब भी कोई विशेष पूजा करें तो इष्टदेव के साथ ही स्वस्तिक, कलश, नवग्रह देवता, पंच लोकपाल, षोडश मातृका, सप्त मातृका का पूजन अनिवार्य रूप से किया जाना चाहिए।


Lata

Related News