अब इस शिव मंदिर में Jeans में आना हुआ वर्जित, आप भी जानें क्या है पूरी खबर

punjabkesari.in Friday, May 13, 2022 - 03:46 PM (IST)

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ

*भगवान शिव के दर्शन पर लगी बंदिश
*शिव नगरी देवतालाब में बनाये गए नये नियम
*अब जींस-पेंट पहनकर शिव मंदिर में नहीं होगा प्रवेश
*महादेव के दर्शन करने के लिए
*पुरुषों को पहननी होगी धोती और महिलाओं को साड़ी
*नहीं तो बाहर से ही करने होंगी भोलेनाथ के दर्शन

PunjabKesari, Deotalab Shiv Mandir, Rewa, Shiv Temple, Women

हमारे देश में हर तरह के धार्मिक स्थल पाए जाते हैं। तो वहीं इन तमाम धार्मिक स्थलों को लेकर कई तरह की हिदायतें समाज में प्रचलित हैं। इन्हीं में मध्यप्रेदश में स्थित देवतलाब शिव मंदिर, जिससे जुड़ी हाल ही में एक और हिदायत खबरें बटौर रही है। जी हां, बता दें खबरों के अनुसार मध्यप्रदेश के शिव मंदिर में पुरुषों और महिलाओं के लिए मंदिर में जींस-पेंट पहनकर जाना वर्जित कर दिया गया है। रीवा जिले के देवतलाब स्थित शिव मंदिर में ड्रेस कोड लागू करने का फैसला किया गया है। निर्धारित ड्रेस कोड के मुताबिक अब पुरुषों को महदेव के स्पर्श दर्शन के लिए धोती-कुर्ता पहनना होगा और महिलाओं को साड़ी पहनना अनिवार्य होगा । परंपरागत वस्त्रों को पहनने के बाद ही भोलेनाथ को हाथ से स्पर्श किया जा सकेगा।

PunjabKesari, Deotalab Shiv Mandir, Rewa, Shiv Temple, Women

मंदिर प्रबंध सिमिति की बैठक में समिति ने मंदिर में प्रवेश करने के लिए ड्रेस कोड निर्धारित करने का प्रस्ताव पारित किया। प्रस्ताव के अनुसार मंदिर के बाहर से हर व्यक्ति को भगवान भोलेनाथ के दर्शन मिलेंगे। लेकिन मंदिर के अंदर प्रवेश करने के लिए पुरूषों को धोती और   महिलाओं को साड़ी पहनना आवश्यक होगा। मंदिर को लेकर तय की गई नई व्यवस्था के तहत अब जींस,पैंट,शर्ट और सूट बूट पहने लोग दर्शन तो कर सकेंगे लेकिन उन्हें शिवलिंग को स्पर्श करने की अनुमति नहीं होगी। भगवान के दर्शन के लिए परिसर में एलईडी स्क्रीन लगाने की प्रक्रिया पूर्ण की जाएगी ।

PunjabKesari, Deotalab Shiv Mandir, Rewa, Shiv Temple, Women

बता दें की महाकाल की नगरी उज्जैन और काशी विश्वनाथ में भी भगवान भोलेनाथ के दर्शन को लेकर इस तरह के नियम बनाए गए हैं। यहां गर्भगृह में प्रवेश करने के लिए पुरुषों के लिए धोती और महिलाओं के लिए साड़ी अनिवार्य पहनावा है, जिसको देखते हुए अब रीवा के श्रृंगेश्वर धाम शिव मंदिर में भी ये नियम बनाया गया है।

PunjabKesari, Deotalab Shiv Mandir, Rewa, Shiv Temple, Women
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Jyoti

Related News

Recommended News