See More

पढ़ें कौन हैं आभास झा, जिन्हें वर्ल्ड बैंक ने दी बड़ी जिम्मेदारी

2020-05-23T15:22:43.527

वाशिंगटनः भारतीय मूल के अर्थशास्त्री आभास झा को दक्षिण एशिया में विश्वबैंक के एक महत्वपूर्ण पद पर नियुक्त किया गया है। झा को जलवायु परिवर्तन और आपदा प्रबंधन के लिए महत्वपूर्ण जिम्मेदारी सौंपी गई है। झा की नियुक्ति ऐसे समय हुई है जबकि अम्फान चक्रवात से भारत पश्चिम बंगाल, ओड़िशा तथा बांग्लादेश में जानमाल का काफी नुकसान हुआ है। 

विश्वबैंक ने बयान में कहा कि बैंक के दक्षिण एशिया में जलवायु परिवतर्न और आपदा प्रबंधन पर कार्यविधि प्रबंधक के रूप में झा की शीर्ष प्राथमिकता दक्षिण एशियाई क्षेत्र की आपदा जोखिम प्रबंधन और जलवायु परिवर्तन टीम को वैश्विक वैश्विक व्यवहार सीमाओं से जोड़ने और उनके साथ तालमेल को प्रोत्साहन देने की होगी।  

बैंक ने कहा कि ग्लोबल लीड्स और ग्लोबल सॉल्यूशंस ग्रुप्स के साथ मिलकर आभास झा काम करेंगे ताकि बड़े पैमाने पर अभिनव और उच्च गुणवत्ता वाले विकास समाधान और इन देशों की सेवा के लिए वैश्विक ज्ञान और उसके प्रवाह को बढ़ावा दिया जा सके।

कौन है आभास झा
साल 2001 में झा ने वर्ल्ड बैंक ज्वाइन किया। वह बांग्लादेश, भूटान, भारत और श्रीलंका के बैंक कार्यालय में कार्यकारी निदेशक रह चुके हैं। उन्होंने लैटिन अमेरिका, कैरिबियन, यूरोप, मध्य एशिया, पूर्वी एशिया और प्रशांत क्षेत्रों में काम किया है। उनके अधिकार क्षेत्र में भारत, बांग्लादेश, पाकिस्तान, अफगानिस्तान, श्रीलंका, नेपाल और मालदीव शामिल हैं।

आपको बता दें कि इस समय आईएमएफ की मुख्य अर्थशास्त्री भी एक भारतीय ही है। गीता गोपीनाथ ने साल 2019 में आईएमएफ की चीफ इकोनॉमिस्ट की पोस्ट संभाली। इस पद तक पहुंचने वाली ये पहली महिला हैं। उनके नाम का ऐलान अक्टूबर, 2018 में ही हो गया था। IMF की पूर्व प्रबंध निदेशक क्रिस्टीन लेगार्ड ने गीता के नाम की घोषणा की थी। उन्होंने गीता को दुनिया के बेहतरीन अर्थशास्त्रियों में से एक कहा था।


jyoti choudhary

Related News