See More

DCB बैंक का शुद्ध लाभ मार्च तिमाही में 28% गिरा

2020-05-23T17:19:22.917

नई दिल्लीः निजी क्षेत्र के डीसीबी बैंक का शुद्ध लाभ वित्त वर्ष 2019-20 की मार्च तिमाही में 28 प्रतिशत गिरकर 69 करोड़ रुपए पर आ गया। बैंक ने शनिवार को इसकी जानकारी दी। बैंक को वित्त वर्ष 2018-19 की समान अवधि में 96 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ हुआ था। बैंक ने एक बयान में बताया कि आलोच्य तिमाही के दौरान उसकी कुल आय साल भर पहले के 400 करोड़ रुपए से 8.5 प्रतिशत बढ़कर 434 करोड़ रुपए हो गई। 

पूरे वित्त वर्ष 2019-20 के दौरान बैंक का कर भुगतान के बाद शुद्ध लाभ चार प्रतिशत बढ़कर 2018-19 के 325 करोड़ रुपए की तुलना में 338 करोड़ रुपए रहा। इस दौरान आय 10.5 प्रतिशत बढ़कर 1,656 करोड़ रुपए हो गई। यह 2018-19 में 1,499 करोड़ रुपए रही थी। बैंक ने कहा कि पूरे वित्त वर्ष 2019-20 और मार्च तिमाही में कोविड-19 को लेकर नियामकीय पैकेज प्रावधान करने से लाभ 63 करोड़ रुपए कम हुआ। 

बैंक ने दिशानिर्देशों के आधार पर सामान्य स्थिति की तुलना में अधिक प्रावधान किया। इस दौरान बैंक की संपत्ति की गुणवत्ता में भी गिरावट आई। बैंक की एकीकृत गैर-निष्पादित परिसंपत्ति (एनपीए) साल भर पहले के 1.84 प्रतिशत से बढ़कर 2.46 प्रतिशत हो गई। शुद्ध एनपीए भी 0.65 प्रतिशत से बढ़कर 1.16 प्रतिशत हो गया। 

डीसीबी बैंक के प्रबंध निदेशक (एमडी) एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) मुरली एम नटराजन ने कहा, ‘‘अगली दो तिमाहियों में हमारा मुख्य उद्देश्य पोर्टफोलियो की गुणवत्ता में आ सकने वाली गिरावट, नियामकीय दिशानिर्देशों को लेकर ग्राहकों को समझाने, लागत में कमी लाने और पर्याप्त नकदी बनाए रखने पर ध्यान देते हुए कठिन समय से सावधानी से निकलना होगा।'' उन्होंने कहा कि रिजर्व बैंक ने कर्ज की किस्तें चुकाने से छूट की दूसरी घोषणा सटीक समय पर की है। उन्होंने कहा, ‘‘लॉकडाउन की पाबंदियों में ढील दी जाने लगी है। ऐसे में अर्थव्यवस्था में नकदी के प्रवाह में तेजी आ जानी चाहिए।'' 


jyoti choudhary

Related News