वाणिज्य मंत्रालय उप-सहारा अफ्रीकी, खाड़ी देशों में निर्यात बढ़ाने के लिए उठा रहा कदम

punjabkesari.in Monday, Nov 27, 2023 - 06:33 PM (IST)

नई दिल्लीः वाणिज्य मंत्रालय उप-सहारा अफ्रीकी और खाड़ी देशों में निर्यात बढ़ाने के लिए कदम उठा रहा है। इसके तहत, मंत्रालय नाइजीरिया, इथियोपिया, घाना जैसे उप-सहारा अफ्रीकी देशों और खाड़ी देशों में घरेलू उत्पादों के लिए गैर-शुल्क बाधाओं तथा बाजार पहुंच से संबंधित मुद्दों से निपटने की दिशा में काम कर रहा है। एक अधिकारी ने बताया कि उप-सहारा अफ्रीकी देशों के भारतीय दूतावास के साथ बैठकें की गई हैं, जिनके साथ भारत का द्विपक्षीय व्यापार अच्छा है।

वित्त वर्ष 2022-23 में उस क्षेत्र में भारत का प्रमुख व्यापार भागीदार दक्षिण अफ्रीका रहा जिसके साथ कुल व्यापार 18.9 अरब अमेरिकी डॉलर का हुआ जिसमें से निर्यात 8.5 अरब अमेरिकी डॉलर का था। नाइजीरिया के साथ कुल व्यापार 11.85 अरब अमेरिकी डॉलर का था। इसमें से निर्यात 5.15 अरब अमेरिकी डॉलर का रहा। टोगो के साथ कुल व्यापार 6.6 अरब अमेरिकी डॉलर जिसमें से निर्यात छह अरब अमेरिकी डॉलर का रहा और तंजानिया के साथ कुल व्यापार 6.5 अरब अमेरिकी डॉलर हुआ जिसमें से निर्यात 3.93 अरब अमेरिकी डॉलर का हुआ। 

अधिकारी ने कहा, ‘‘सितंबर में उप-सहारा अफ्रीकी क्षेत्र के शीर्ष 10 देशों (द्विपक्षीय व्यापार के हिसाब से) के भारतीय दूतावास के साथ ऑनलाइन बैठक आयोजित की गईं। इसमें उन देशों के साथ समग्र आर्थिक तथा वाणिज्यिक संबंधों, निर्यात प्रदर्शन, गैर-शुल्क बाधाओं पर चर्चा की गई थी जो द्विपक्षीय व्यापार व निर्यात को बढ़ाने की राह में बाधा बने हैं।'' इसी तरह की बैठक जीसीसी (खाड़ी सहयोग परिषद) देशों में भारतीय मिशन के साथ भी आयोजित की गई थी। जीसीसी खाड़ी क्षेत्र के छह देशों सऊदी अरब, संयुक्त अरब अमीरात (यूएई), कतर, कुवैत, ओमान और बहरीन का एक संघ है। 

वित्त वर्ष 2022-23 में सऊदी अरब के साथ द्विपक्षीय व्यापार 52.76 बरब अमेरिकी डॉलर, यूएई के साथ 84.8 अरब अमेरिकी डॉलर, कतर के साथ 18.77 अरब अमेरिकी डॉलर, कुवैत के साथ 13.8 अरब अमेरिकी डॉलर और ओमान के साथ 12.4 अरब अमेरिकी डॉलर रहा। मंत्रालय ने निर्यातकों से निर्यात को बढ़ावा देने के लिए खाद्य, इलेक्ट्रॉनिक और इंजीनियरिंग जैसे संभावित प्रमुख क्षेत्रों और प्रमुख बाजारों पर ध्यान केंद्रित करने को भी कहा है। इसमें वैश्विक स्तर पर मेलों तथा प्रदर्शनियों के आयोजन पर ध्यान देने का सुझाव भी दिया गया। इस साल अक्टूबर में भारत का वस्तु निर्यात 6.21 प्रतिशत बढ़कर 33.57 अरब अमेरिकी डॉलर हो गया, जबकि इस महीने में व्यापार घाटा 31.46 अरब अमेरिकी डॉलर के रिकॉर्ड उच्च स्तर पर पहुंच गया। 

सोने के आयात में उछाल से इस माह में आयात 12.3 प्रतिशत बढ़कर 65.03 अरब अमेरिकी डॉलर रहा। संचयी रूप से चालू वित्त वर्ष में अप्रैल-अक्टूबर में निर्यात सात प्रतिशत घटकर 244.89 अरब अमेरिकी डॉलर हो गया, जबकि आयात 8.95 प्रतिशत गिरकर 391.96 अरब अमेरिकी डॉलर हो गया। सात महीने की अवधि में व्यापार घाटा पिछले वर्ष की समान अवधि के 167.14 अरब अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 147.07 अरब अमेरिकी डॉलर रहा। 
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

jyoti choudhary

Recommended News

Related News