See More

Air India के कर्मचारियों ने सरकार को लिखी चिट्ठी, कहा- वेतन में न की जाए कटौती

2020-04-25T16:03:27.953

नई दिल्लीः सरकारी विमानन कंपनी एयर इंडिया के आठ कर्मचारी संगठनों ने केंद्रीय नागर विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी को पत्र लिखकर 10 प्रतिशत वेतन कटौती का निर्णय वापस लेने की शुक्रवार को मांग की। आठों संगठनों ने संयुक्त पत्र में कहा, 'हम आपसे अनुरोध करते हैं कि कोरोना वायरस महामारी के मद्देनजर कर्मचारियों का 10 प्रतिशत वेतन काटने के एयर इंडिया समिति के फैसले को रोकें क्योंकि यह सरकार के निर्देशों के खिलाफ है।' बता दें कि एयर इंडिया ने तीन महीने तक कर्मचारियों का 10 प्रतिशत वेतन काटने का निर्णय लिया है।

नागरिक उड्डयन मंत्री को लिखा पत्र
संगठनों ने कहा कि इस निर्णय से कर्मचारियों के मनोबल पर असर पड़ेगा तथा लॉकडाउन के दौरान उनकी आर्थिक स्थिति भी खराब होगी। कर्मचारियों के मार्च का वेतन भत्ता 10 फीसदी कटौती के साथ 18 अप्रैल को मिला। फ्लाइंग क्रू को फरवरी का उनके वेतन भत्ते का 70 फीसदी हिस्सा अब तक नहीं मिला है। यूनियन ऑफ एयर इंडिया के 8 कर्मचारी संगठनों ने शुक्रवार को नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी से अनुरोध किया है कि एयरलाइन लॉकडाउन की वजह से लिए गए निर्णय को वापस ले ले।

इंडिगो ने वेतन कटौती का फैसला वापस लिया
गौरतलब है कि इंडिगो के मुख्य कार्यपालक अधिकारी रोनो दत्ता ने गुरुवार को कर्मचारियों से कहा कि एयरलाइन्स ने वेतन में कटौती के निर्णय को वापस ले लिया है। उन्होंने कहा यह निर्णय सरकार की उस अपील पर किया गया है, जिसमें उसने कंपनियों से कर्मचारियों के वेतन में कटौती नहीं करने की बात कही है। कंपनी ने पहले वरिष्ठ कर्मचारियों के अप्रैल महीने के वेतन में कटौती की घोषणा की थी। दत्ता ने ई-मेल में कर्मचारियों से कहा है, 'हालांकि हमारी कार्यकारी समिति के सदस्य और वरिष्ठ उपाध्यक्षों ने स्वेच्छा से इस महीने वेतन कम लेने का फैसला किया है। अन्य सभी कर्मचारी अप्रैल महीने का पूरा वेतन पाने की उम्मीद कर सकते हैं।'
 


jyoti choudhary

Related News