ऑस्ट्रेलिया में अब आसानी से नहीं मिलेगी नौकरी

Friday, March 3, 2017 1:59 PM
ऑस्ट्रेलिया में अब आसानी से नहीं मिलेगी नौकरी

मेलबर्न:अमरीका के बाद अब ऑस्ट्रेलिया भी अपने वीजा नियमों में बदलाव लाने वाला है।ऑस्ट्रेलियाई नौकरियों को सुरक्षित करने के लिए ऑस्ट्रेलिया ने अपने वर्किंग वीजे पर सख्ती करने की घोषणा कर दी है।

ऑस्ट्रेलिया के इमीग्रेशन मंत्री पीटर डटन ने कहा है कि फॉस्ट फूड इंडस्ट्री में विदेशी कामगारों को वीजा देने की प्रक्रिया को खत्म कर दिया जाएगा। इस निर्णय से सबसे अधिक भारतीय प्रवासी कर्मचारी प्रभावित होंगेक्योंकि वर्किंग वीजापाने वालों में एक चौथाई भारतीय हैं। मैकडोनल्ड्स,केएफसी और हंग्री जैक्स समेत अन्य कारोबारों में साल 2012 से लेकर अब तक करीब 500 विदेशी कर्मचारियों को वर्किंग वीजा दिया गया है।

डटन के अनुसार,"ऑस्ट्रेलियाई कामगारों, खासकर नौजवानों को वरीयता देनी होगी।" सरकारी आंकड़ों के अनुसार, पिछले साल सितंबर में 457 वीजा पर कुल 95,758 लोग रह रहे थे जबकि 2015 में यह संख्या 1,03,862 थी। इसमें सर्वाधिक 24.6 प्रतिशत भारतीय हैं, जबकि ब्रिटेन के 19.5 प्रतिशत और चीन के 5.8 प्रतिशत हैं।

क्या है 457 वीजा ?
यह वीजा 4 साल के लिए दिया जाता है और जिसके तहत कोई अपने परिवार के साथ ऑस्ट्रेलिया में रह सकता है। कंपनियां तभी इस वीजा को स्पॉन्सर करती हैं जब उन्हें कोई ऑस्ट्रेलियाई या स्थाई निवासी न मिले। वीजा पाने वाले कर्मचारी ऑस्ट्रेलिया में आजादी से आ जा सकते हैं। बता दें कि साल 2016 में सर्वाधिक वीजा शेफ, डेवलपर्स, प्रोग्रामर्स और मेडिकल कर्मचारियों को दिए गए थे। 




विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !