महिलाओं के इन अंगों में बसता है पति का भविष्य

Saturday, May 6, 2017 12:48 PM
महिलाओं के इन अंगों में बसता है पति का भविष्य

समुद्रशास्‍त्र के अनुसार हेल्दी रिलेशनशिप तभी बन सकता है जब लड़का और लड़की विवाह से पहले एक-दूसरे के शुभ लक्षणों को जान लें। वैसे तो दांपत्य जीवन को सफल बनाने की जिम्मेदारी दोनों की होती है लेकिन इस लेख के माध्यम से हम लड़क‌ियों के कुछ लक्षण बता रहे हैं, जो वैवाहिक जीवन के लिए शुभ नहीं होते जो पुरूष इन लक्षणों वाली कन्या से विवाह करता है उसका जीवन बर्बाद हो जाता है। तो आईए जानें, महिलाओं के उन अंगों के बारे में जिनमें बसता है पति का भविष्य समुद्र शास्त्र के मतानुसार जिस स्त्री के मुंह पर पुरूषों की भांति मूंछों के बाल साफ- साफ दिखाई देते हों। वह स्त्री क्रोधी स्वभाव की होती है। उन्हें मैं बहुत प्रिय होती है। किसी के भी मुख से उन्हें अपने लिए न शब्द सुनना पसंद नहीं होता। कभी-कभी इनका बर्ताव बहुत क्रूर हो जाता है। सारे घर की भाग-दौड़ यह खुद से संभालती हैं और पति के होते हुए भी घर की मुखिया बन कर रहती हैं।


अंगूठा बड़ा और तर्जनी छोटी हो ऐसा जातक दूसरे का गुलाम होता है। तर्जनी मध्यमा से बड़ी हो ऐसे जातक की स्त्री गरीब परिवार की होती है तथा जातक को उससे सुख नहीं मिलता। तर्जनी मध्यमा से छोटी हो तो स्त्री का सुख मिलता है। तर्जनी मध्यमा से बहुत छोटी हो तो ऐसे जातक को स्त्री का सुख कम मिलता है। अनामिका मध्यमा से छोटी हो तो ऐसे जातक को स्त्री सुख कम मिलता है। कनिष्ठिका अनामिका से बड़ी हो तो ऐसे जातक का भाग्य अच्छा होता है।


जिस लड़की की मांग सीधी और सपाट होती है वह पति के लिए बहुत शुभ होती है। दो मांग या टेढे मांग रखने वाली लड़कियां अपने हाथों अपना वैवाहिक जीवन बर्बाद कर लेती हैं। उनके रिश्ते में ये अलगाव का संकेत होता है।

 
जो लड़कियां एड़‌ियां उठाकर चलती हैं उनका जीवन संघर्षों से भरा होता है। उनके चाल-चलन से मायके और ससुराल दोनों का नाम बर्बाद होता है। 



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!