रिटर्न दाखिल न करने वाली 14,000 संपत्तियां मोदी के निशाने पर

Friday, September 1, 2017 11:43 AM
रिटर्न दाखिल न करने वाली 14,000 संपत्तियां मोदी के निशाने पर

नई दिल्ली: नोटबंदी के बाद देश के 13.33 लाख बैंक खातों में 2.89 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा की राशि जमा की गई है। भारतीय रिजर्व बैंक (आर.बी.आई.) की तरफ  से नोटबंदी के आंकड़े सार्वजनिक किए जाने के बाद अब आयकर विभाग ने यह खुलासा किया है। इसक अलावा मोदी सरकार के निशाने पर 1 करोड़ रुपए से अधिक राशि की 14,000 संपत्तियां भी है, क्योंकि इन संपत्तियों के मालिकों ने आयकर रिटर्न दाखिल नहीं किया है।

आयकर विभाग का कहना है कि ऐसे लोग उसके राडार पर हैं। आयकर विभाग के अनुसार नोटबंदी के दौरान कुल .72 लाख लोगों ने 13.33 लाख खातों में 2.8 लाख करोड़ रुपए जमा किए थे। आयकर विभाग की इन 9.72 लाख लोगों पर नजर है और इन्हें बताए बिना ही विभाग इस बात की जांच भी कर रहा है कि आखिर इतने पैसों का स्रोत क्या है। ये सारे पैसे सिर्फ  3-4 सप्ताह के भीतर ही इन खातों में जमा करा दिए गए थे।

रिजर्व बैंक जोकि अभी तक 8 नवम्बर, 2016 के बाद जमा किए गए नकली नोटों की वास्तविक संख्या का खुलासा करने से बचता आया था, उसने अपनी सालाना रिपोर्ट 2016-17 में बताया कि 15.44 लाख करोड़ रुपए के पुराने नोटों में से सिर्फ  16,050 करोड़ रुपए ही वापस नहीं लौटे हैं।



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!