समारा कैपिटल एफआरएल में 7,000 करोड़ रुपये का निवेश करने को तैयार, अमेजन ने की पुष्टि

punjabkesari.in Sunday, Jan 23, 2022 - 06:18 PM (IST)

नयी दिल्ली, 23 जनवरी (भाषा) अमेजन ने फ्यूचर रिटेल लिमिटेड (एफआरएल) के स्वतंत्र निदेशकों को पत्र लिखकर पुष्टि की है कि समारा कैपिटल कर्ज में डूबी कंपनी की सभी खुदरा संपत्तियां खरीदने के लिए 7,000 करोड़ रुपये का निवेश करने को ‘‘इच्छुक और प्रतिबद्ध’’ है। सूत्रों ने यह जानकारी दी।
उन्होंने कहा कि अमेजन ने खुदरा कंपनी को रविवार तक जांच-परख की रिपोर्ट (खरीदारी से संबंधित वित्तीय ब्यौरा) समारा को सौंपने के लिए कहा है।
इससे पहले अमेजन ने 19 जनवरी को एफआरएल के स्वतंत्र निदेशकों से संपर्क कर कंपनी की वित्तीय चिंताओं को दूर करने के लिए मदद की इच्छा जताई थी।

इसके जवाब में स्वतंत्र निदेशकों ने अमेजन को 22 जनवरी तक इस बात की पुष्टि करने को कहा कि क्या वह 29 जनवरी, 2022 तक एफआरएल के कर्जदाताओं को देने के लिए खुदरा कंपनी में 3,500 करोड़ रुपये का निवेश करेगी।

अमेजन ने 22 जनवरी को अपने जवाब में कहा, ‘‘हम पुष्टि करते हैं कि 21 जनवरी, 2022 को आपके पत्र के आधार पर समारा कैपिटल ने एक बार फिर हमें बताया है कि उनकी दिलचस्प है और वह समारा, एफआरएल और एफआरएल के प्रवर्तकों के बीच हस्ताक्षरित 30 जून 2020 की पेशकश को आगे बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध हैं।’’
इस समझौते के अनुसार, 7,000 करोड़ रुपये में खरीद की बात कही गई है, जिसकी एक प्रति पीटीआई-भाषा ने देखी है।

अमेजन ने अपने पत्र में कहा कि समारा समझौते के तहत एफआरएल की सभी खुदरा संपत्तियों का अधिग्रहण किया जाना है, जिसमें ईजी डे, आधार और हेरिटेज ब्रांड शामिल हैं। यह अधिग्रहण समारा की अगुवाई में भारतीय स्वामित्व और नियंत्रण वाली इकाई द्वारा किया जाएगा, जिसे अमेजन का समर्थन हासिल होगा।
इस संबंध में अमेजन और फ्यूचर समूह को भेजे गए ईमेल का कोई जवाब नहीं मिला था।

इससे पहले अमेजन ने एफआरएल के स्वतंत्र निदेशकों को पत्र लिखकर कहा था कि कंपनी द्वारा उसकी सहमति के बिना छोटे आकार के स्टोर को बेचना ‘रोक’ के आदेश का उल्लंघन होगा। हालांकि, इसके साथ ही अमेजन ने नकदी संकट से जूझ रही कंपनी के वित्तीय संकट को दूर करने की इच्छा फिर दोहराई थी।

रिलायंस रिटेल के साथ फ्यूचर समूह के 24,731 करोड़ रुपये के बिक्री सौदे को अमेजन ने चुनौती दी है। अमेजन इस मामले को गत वर्ष अक्टूबर में सिंगापुर मध्यस्थता केंद्र में ले आई थी। उसका कहना था कि फ्यूचर रिटेल लिमिटेड ने प्रतिद्वंद्वी कंपनी रिलायंस रिटेल के साथ बिक्री करार कर वर्ष, 2019 में अमेजन के साथ हुए निवेश समझौते का उल्लंघन किया है।

रिलायंस रिटेल के साथ फ्यूचर रिटेल के विलय का सौदा लगातार कानूनी विवादों में फंसा हुआ है। यह मामला कई नियामकीय एवं न्यायिक प्रतिष्ठानों में विचार के लिए लाया जा चुका है।


यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Related News

Recommended News