टाटा मोटर्स को वृद्धि की रफ्तार 2022 में भी जारी रहने की उम्मीद, उत्पादन बढ़ाएगी

punjabkesari.in Sunday, Jan 23, 2022 - 03:59 PM (IST)

नयी दिल्ली, 23 जनवरी (भाषा) टाटा मोटर्स को भरोसा है कि वह इस साल भी वृद्धि की रफ्तार को कायम रख पाएगी। कंपनी के एक शीर्ष अधिकारी ने आपूर्ति पक्ष के मुद्दों के सुलझने की उम्मीद जताते हुए कहा है कि इससे हमें बढ़ी मांग को पूरा करने के लिए उत्पादन बढ़ाने में मदद मिलेगी।
मुंबई स्थित टाटा मोटर्स पंच, नेक्सन और हैरियर जैसे मॉडलों की बिक्री करती है। चालू वित्त वर्ष की अक्टूबर-दिसंबर तिमाही के दौरान कंपनी ने अपने डीलरों को 99,002 वाहनों की आपूर्ति की है। यह इससे पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि के 68,806 इकाइयों के आंकड़े की तुलना में 44 प्रतिशत अधिक है।
दिसंबर, 2021 में कंपनी की कुल यात्री वाहन बिक्री 50 प्रतिशत के उछाल के साथ 35,299 इकाइयों पर पहुंच गई, जो दिसंबर, 2020 में 23,545 इकाई रही थी।
टाटा मोटर्स पैसेंजर्स वेहिकल्स के प्रबंध निदेशक शैलेश चंद्रा ने पीटीआई-भाषा से बातचीत में कहा, ‘‘अब हमारे पोर्टफोलियो में हर मॉडल है। हमारे पास सात उत्पाद हैं और प्रत्येक मॉडल ने इस वृद्धि में योगदान दिया है।’’ उनसे पूछा गया था कि क्या कंपनी को 2022 में भी अपनी वृद्धि की रफ्तार को कायम रखने की उम्मीद है।
चंद्रा ने कहा, ‘‘आपूर्ति पक्ष के मुद्दे रहे हैं, जिसकी वजह हम अपनी कारों की श्रृंखला के लिए मांग संभावना का पूरी तरह दोहन नहीं कर पाए हैं। इसलिए मुझे भरोसा है कि है कि हम आगे भी ​​आपूर्ति पक्ष की स्थिति में सुधार के बाद वृद्धि की रफ्तार को कायम रखेंगे।’’ उन्होंने कहा कि कंपनी अपने ग्राहक आधार का विस्तार करने के लिए व्यापक वर्ग की दृष्टि से अधिक विकल्प लेकर आ रही है। पंच के साथ प्रवेश स्तर के एसयूवी खंड में उतरना इसका एक बेहतर उदाहरण है।
उन्होंने कहा कि हम वृद्धि वाले नए क्षेत्रों के लिए नए मॉडल उतारना जारी रखेंगे। पिछले दो साल से हम ऐसा कर रहे हैं।
चंद्रा ने कहा कि कंपनी ने एसयूवी और सीएनजी मॉडल उतारे हैं। साथ ही कंपनी इलेक्ट्रिक वाहनों की पेशकश जारी रखेगी।
यह पूछे जाने पर कि क्या सेमीकंडक्टर की आपूर्ति में कुछ सुधार हुआ है, उन्होंने कहा कि यह अभी सामान्य नहीं हुआ है। लेकिन इस तिमाही के लिए परिदृश्य पिछली तिमाही की तुलना में बेहतर दिखाई दे रहा है। ‘‘कुल मिलाकर कह सकते हैं कि पिछली दो तिमाहियों की तुलना में यह 10 से 15 प्रतिशत बेहतर है।’’


यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Related News

Recommended News