बांड बाजार को अधिक व्यापक बनाने के लिए सुधार पाइपलाइन में: सेबी प्रमुख

09/17/2021 10:35:23 AM

नयी दिल्ली, 16 सितंबर (भाषा) सेबी प्रमुख अजय त्यागी ने बृहस्पतिवार को कहा कि बॉन्ड बाजार को अधिक व्यापक बनाने के लिए कई सुधार पाइपलाइन में हैं, जिसमें ‘बाजार बनाने’ वालों का एक समूह बनाना तथा संकटग्रस्त और सामान्य समय में निवेश ग्रेड की ऋण प्रतिभूतियों को खरीदने के लिए ‘बैकस्टॉप सुविधा’ स्थापित करना शामिल है।
बाजार बनाने वाली इकाइयां वह होती हैं जो कि कंपनियों के बॉंड के लिये खरीद और बिक्री दोनों मूल्य लगाती हैं। इससे द्धितीयक बाजार में बॉंड की खरीद- फरोख्त की अवसर पैदा होते हैं और बाजार का सृजन होता है।
उद्योग मंडल सीआईआई द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में त्यागी ने कहा कि पाइपलाइन में अन्य प्रमुख सुधार में कॉरपोरेट बॉन्ड में रेपो के लिए सीमित प्रयोजन समाशोधन निगम की स्थापना करना भी शामिल है।
कॉरपोरेट बॉन्ड बाजार के रुझानों के अनुसार, लगभग 97-98 प्रतिशत कॉरपोरेट बॉन्ड निजी नियोजन माध्यम से जारी किए जाते हैं। इनमें लगभग 90 प्रतिशत निर्गम ''एए'' और उससे ऊपर की रेटिंग के होते हैं।
बॉंड खरीद-फरोख्त के मामले में द्धितीयक बाजारों में अधिक व्यापकता नहीं है। इसमें जो भी खरीद-फरोख्त होती है वह जयादातर म्यूचुअल फंड द्वारा ही की जाती है।
सेबी प्रमुख ने कहा, ''हमें और अधिक सार्वजनिक निर्गम, अपेक्षाकृत कम रेटिंग वाले बांड जारी करने और द्वितीयक बाजार में और अधिक कारोबारियों की मौजूदगी के साथ गहराई बढ़ाने की जरूरत है।
उन्होंने कहा भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (सेबी) ने कुछ पहल की हैं और कुछ और पाइपलाइन में हैं।


यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Recommended News