See More

बेहतर न्यायसंगत दुनिया की चाह रखते हैं अधिकांश लोग: डब्ल्यूईएफ सर्वेक्षण

2020-09-16T23:16:39.397

नयी दिल्ली, 16 सितंबर (भाषा) अधिकांश लोग चाहते हैं कि दुनिया में ऐसा बड़ा बदलाव चाहते हैं जिससे की दुनिया अधिक चिरस्थायी और न्यायसंगत बन सके। विश्व आर्थिक मंच (डब्ल्यूईएफ) के एक वैश्विक सर्वेक्षण में यह जानकारी सामने आयी है।

डब्ल्यूईएफ और इप्सोस के इस सर्वेक्षण में 21 हजार से अधिक लोग शामिल हुए। सर्वेक्षण में शामिल लोगों में से 72 प्रतिशत ने कहा कि वे कोविड-19 महामारी से पहले की स्थिति में वापस लौटने के बजाय अपने व्यक्तिगत जीवन में व्यापक बदलाव की चाह रखते हैं।

सर्वेक्षण में भारत समेत 28 देशों के लोग शामिल हुए। इनमें से करीब 90 प्रतिशत लोगों ने कहा कि वे जीवन व दुनिया में बदलाव के लिये तैयार हैं। सर्वेक्षण में शामिल लोगों में से 86 प्रतिशत ने दुनिया के कोविड-19 महामारी से पहले की स्थिति की तुलना में अधिक चिरस्थायी व न्यायसंगत दुनिया की इच्छा व्यक्त की।

मंच ने बुधवार को सर्वेक्षण की रिपोर्ट का हवाला देते हुए जारी एक विज्ञप्ति में कहा, ‘‘सभी देशों में, जो लोग ऐसी इच्छा रखते हैं, उनकी संख्या ऐसी इच्छा नहीं रखने वालों से काफी अधिक (दक्षिण कोरिया को छोड़ सभी अन्य देशों में 50 प्रतिशत से अधिक) रही।’’
सर्वेक्षण में भारत के कुल 500 प्रतिभागी शामिल हुए। इनमें से 87 प्रतिशत ने दुनिया के कोविड-19 महामारी से पहले की स्थिति की तुलना में अधिक दीर्घकालिक व न्यायसंगत दुनिया की इच्छा व्यक्त की। इनमें से 85 प्रतिशत ने कोविड-19 महामारी से पहले की स्थिति में वापस लौटने के बजाय अपने व्यक्तिगत जीवन में व्यापक बदलाव की चाह प्रकट की।



यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

Edited By

PTI News Agency

Related News