देश के कई राज्यों में आज फिर बिगड़ेगा मौसम, यमुना के उफान से दिल्ली पर मंडराया खतरा

08/27/2020 9:51:05 AM

नेशनल डेस्क: अगले 24 घंटे देश के कई राज्यों के लिए भारी साबित हो सकते हैं। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने ओडिशा और छत्तीसगढ़ समेत देश के कई हिस्सों में बहुत तेज और कहीं-कहीं अतिवृष्टि होने का अनुमान जताया है। वहीं दिल्ली में यमुना नदी भी चेतावनी स्तर के करीब बह रही है। हरियाणा के हथिनीकुंड बैराज से और अधिक पानी छोड़े जाने से इसका जलस्तर बढ़ने की संभावना है। 

PunjabKesari

मौसम वैज्ञानिकों ने अगले तीन-चार दिनों में पश्चिमोत्तर भारत में भारी से बहुत भारी बारिश होने का अनुमान लगाया है। यमुना का जल स्तर शाम छह बजे ओल्ड रेलवे ब्रिज पर 203.68 मीटर दर्ज किया गया। सोमवार को जलस्तर 204.38 मीटर था और यह खतरे के निशान 205.33 मी. से महज एक मीटर नीचे था। सिंचाई एवं बाढ़ नियंत्रण विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि हथिनीकुंड बैराज से शाम छह बजे 25,000 क्यूसेक की दर से पानी छोड़ा जा रहा है। 

PunjabKesari

एक क्यूसेक प्रति सेकंड 28.32 लीटर पानी के प्रवाह के बराबर है। अधिक पानी छोड़े जाने से जलस्तर और बढ़ने की संभावना है। सामान्य तौर पर हथिनीकुंड बैराज में बहाव दर 352 क्यूसेक होता है लेकिन जलग्रहण क्षेत्रों में भारी बारिश के बाद पानी छोड़ने की मात्रा बढ़ा दी जाती है। पिछले साल 18-19 अगस्त को बहाव दर 8.28 लाख क्यूसेक तक पहुंच गया था और यमुना नदी का जलस्तर 206.60 मीटर पर पहुंच गया, जो खतरे के निशान 205.33 से ऊपर है। निचले इलाकों में पानी भरने के बाद दिल्ली सरकार ने बचाव और राहत अभियान शुरू किया था। 

PunjabKesari
मौसम विभाग के अनुमान के अनुसार जम्मू , पूर्वी मध्य प्रदेश, विदर्भ,पश्चिम बंगाल में गंगा के तटवर्ती इलाके और झारखंड में अलग अलग स्थानों पर भारी से बहुत भारी वर्षा होने के आसार हैं। इसके अलावा हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, पूर्वी उत्तर प्रदेश, बिहार, पश्चिम बंगाल के पर्वतीय क्षेत्र, सिक्किम, तटीय आंध्र प्रदेश, यानम, तेलंगाना, तमिलनाडु, पुड्डुचेरी और कराईकल में तेज बारिश हो सकती है ओडिशा-पश्चिम बंगाल के तटों के साथ-साथ पश्चिम बंगाल के उत्तर की खाड़ी और इससे सटे दक्षिण पश्चिम अरब सागर में 45-55 किमी प्रति घंटे तक की तेज गति के साथ हवा चलने का अनुमान है। मौसम विभाग ने मछुआरों को अगले 24 घंटे समुद्र में नहीं जाने की सलाह दी है।     


सबसे ज्यादा पढ़े गए

vasudha

Related News

Recommended News