आरे कॉलोनी में पेड़ काटे जाने के खिलाफ भारी हंगामा, स्टूडेंट डेलिगेशन आज CJI से मिलेगा

10/6/2019 11:41:01 AM

मुंबईः उत्तरी मुंबई के आरे कॉलोनी में शुक्रवार रात और शनिवार को मुंबई मेट्रो रेल निगम लिमिटेड (एमएमआरसीएल) द्वारा पेड़ों को काटे जाने के विरोध में रविवार को लेकर छात्रों का एक प्रतिनिधिमंडल सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस रंजन गोगोई से मुलाकात करेगा। छात्रों का प्रतिनिधिमंडल दोपहर 3 बजे चीफ जस्टिस के आवास पर मुलाकात करेगा। छात्र प्रतिनिधिमंडल चीफ जस्टिस से अपने विशेषाधिकार का प्रयोग कर पेड़ों की कटाई पर स्टे की अपील करेगा। प्रतिनिधिमंडल का मानना है कि अपील याचिका दायर करने का समय नहीं है।

PunjabKesari

इससे पहले शनिवार को विरोध कर रहे प्रदर्शनकारियों की पुलिस के साथ झड़प हो गई, जिसको लेकर 6 महिलाओं सहित 29 लोगों को गिरफ्तार किया गया। इलाके में एक प्रस्तावित ‘मेट्रो ट्रेन शेड' बनाने के लिए पेड़ों की कटाई की जा रही है। पुलिस ने शनिवार को आरे कॉलोनी और उसके आसपास के इलाकों में शनिवार सुबह धारा 144 लगा दी। घटनास्थल पर राकांपा के विधायक जितेंद्र अव्हाद, शिवसेना नेता प्रियंका चतुर्वेदी, शिवसेना नेता और पूर्व मेयर शुभा राउल सहित कई लोगों को हिरासत में लिया गया।

PunjabKesari

कुछ प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर सख्ती बरतने का आरोप लगाया है। हालांकि, मुंबई पुलिस ने इन सभी आरोपों को खारिज कर दिया है। विधानसभा चुनाव के लिए सरगर्मियां तेज होने के कारण इस मुद्दे ने राजनीतिक रंग भी ले लिया है। विपक्षी दल सत्तारूढ़ भाजपा और शिवसेना को पेड़ों को बचाने में उनकी ‘‘नाकामी'' के लिए जिम्मेदार ठहरा रहे हैं। पर्यावरण कार्यकर्ताओं ने प्रशासन की आलोचना करते हुए दावा किया कि अब तक लगभग 200 पेड़ काटे जा चुके हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि मेट्रो निगम 10 अक्तूबर से पहले काम खत्म करना चाहता है। इसी दिन राष्ट्रीय हरित अधिकरण (एनजीटी) में मामले की सुनवाई होनी है।

PunjabKesari


Seema Sharma

Related News