केरल में बढ़ा निपाह वायरस का खतरा, 12 साल के बच्चे की मौत, संपर्क में आए दो और मरीज मिले

punjabkesari.in Sunday, Sep 05, 2021 - 05:12 PM (IST)

नेशनल डेस्क: केरल में कोरोना महामारी का कहर थम नहीं कर रहा है। दिन प्रतिदिन यहां हजारों की संख्या में कोरोना संक्रमण के मामले सामने आ रहे हैं। इसी बीच सूबे में निपाह वायरस भी पैर पसार रहा है। आज तड़के कोझीकोड में निपाह वायरस से एक 12 वर्षीय बच्चे की मौत हो गई। बच्चे की मौत के बाद प्रशासन भी अलर्ट हो गया और बच्चे के संपर्क में आने वाले लोगों की तुरंत जांच कराई गई। स्वास्थ्य विभाग की ओर से इस बात की जानकारी दी गई है। 
 

संपर्क में आए दो और मरीज मिले
केरल की स्वास्थ्य मंत्री वीणा जॉर्ज ने बताया कि कोझीकोड जिले में एक बच्चे में निपाह वायरस के लक्षण मिलने के बाद उसे उपचार के लिए एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इलाज के दौरान बच्चे की मौत हो गई। हमने 188 प्राथमिक संपर्कों की पहचान की है। बच्चे के संपर्क में आए 20 लोगों को हाई-रिस्क कैटेगरी में रखा गया है, उनमें से दो में लक्षण दिखने लगे हैं। दोनों ही स्वास्थ्यकर्मी हैं। एक कोझिकोड़ के सरकारी अस्पताल का कर्मी है, जबकि दूसरा निजी अस्पताल में है। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि बच्चे का रूट मैप भी जारी किया जाएगा जिससे लोगों को यह पता चल सके कि वह कहां कहां गया था और किन किन लोगों के संपर्क में आया था। 

निगरानी के लिए केंद्र सरकार ने भेजी टीम
राज्य में निपाह वायरस का संक्रमण न फैले इसे रोकने के लिए दूसरे उपाय उठाए जा रहे हैं। सरकार ने टीमें गठित कर दी हैं। उन्होंने लोगों से अपील की है कि वह वायरस को लेकर पैनिक न हों और संक्रमण के इस दौर में सावधानी बरतें। बच्चे के संपर्क में आने वालों को क्वारंटीन की सख्त चेतावनी दी गई है। इसी बीच केंद्र सरकार भी हरकत में हरकम में आ गई है और उन्होंने निपाह वायरस की निगरानी के लिए एक टीम केरल के लिए भेजी है। टीम राज्य के अधिकारियों को तकनीकी सहयोग देगी। केंद्र सरकार ने राज्य को सार्वजनिक स्वास्थ्य उपायों की भी सलाह दी है। 


 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Editor

rajesh kumar

Related News

Recommended News