पुंछ में आतंकवादी दो-तीन महीने से मौजूद थे: जम्मू कश्मीर पुलिस

10/12/2021 10:35:44 PM

जम्मू : जम्मू-कश्मीर पुलिस ने मंगलवार को कहा कि पुंछ जिले में सुरक्षा बलों पर हमले में शामिल आतंकवादी दो से तीन महीने से इलाके में थे। इस हमले में ही सेना के एक जूनियर कमीशंड अधिकारी (जेसीओ) समेत पांच जवान शहीद हो गए थे। 

पुलिस उप महानिरीक्षक (डीआईजी) राजौरी-पुंछ रेंज विवेक गुप्ता ने संवाददाताओं से कहा कि आतंकवादियों को एक खास क्षेत्र तक सीमित कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि अभियान को "कम से कम समय में तार्किक निष्कर्ष पर ले जाया जाएगा।" गुप्ता ने कहा कि आतंकवादियों ने सोमवार को सीएएसओ के दल पर हमला कर दिया था जिसमें सेना के पांच जवान शहीद हो गए थे जिसके बाद सुरक्षा बलों ने घेराबंदी करके खोज अभियान शुरू किया था।

 

डीआईजी ने बताया कि बाद में आतंकियों से दूसरी जगह पर फिर से आमना-सामना हुआ था। उन्होंने कहा कि क्षेत्र की स्थिति की वजह से अभियान में और प्रगति नहीं हुई है।

 

यह पूछे जाने पर कि क्या हमले में शामिल आतंकवादियों ने हाल में घुसपैठ की थी, तो गुप्ता ने कहा, "समूह दो से तीन महीने से इलाके में मौजूद था। जिस क्षेत्र में आमना-सामना हुआ और हमला हुआ, वह एक ही पट्टी है।" पुलिस अधिकारी ने कहा कि संयुक्त दलों ने अभियान के तहत इलाके की घेराबंदी कर दी है।

 

संदिग्ध आतंकवादियों की संख्या के बारे में पूछे जाने पर गुप्ता ने कहा कि उन्होंने एक अनुमान लगाया है लेकिन जारी अभियान को देखते हुए इसका खुलासा नहीं करेंगे। उन्होंने इस बात से भी इनकार किया कि आतंकवादियों को स्थानीय समर्थन मिल रहा था।

 

उन्होंने कहा कि अभियान एक निश्चित रणनीति के तहत चलाया जा रहा है और " इन पट्टियों में पहले चलाए गए अभियानों में कुछ समय लगा था लेकिन हम आतंकवादियों को खत्म करने में सफल रहे थे।"


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Monika Jamwal

Recommended News