G-20 के वित्त मंत्रियों और केंद्रीय बैंकों के गवर्नरों के साथ सीतारमण की बैठक, कई मुद्दों पर की चर्चा

10/14/2021 4:19:52 PM

नेशनल डेस्क: केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने G-20 के वित्त मंत्रियों और केंद्रीय बैंकों के गवर्नरों (FMCBG) की बैठक में कहा है कि महामारी के कारण उत्पनन संकट से सुधार की राह पर आने के लिए सभी को टीकों की समान उपलब्धता सुनिश्चित करना एक बड़ी चुनौती है। सीतारमण ने बुधवार को वाशिंगटन डीसी में हुई IMF-विश्व बैंक की सालाना बैठकों से इतर इटली की अध्यक्षता में G-20 के वित्त मंत्रियों और केंद्रीय बैंकों के गवर्नरों (FMCBG) की चौथी बैठक में भाग लिया। यह इटली की अध्यक्षता में G-20 के अंतर्गत अंतिम FMCBG बैठक थी और इसमें वैश्विक आर्थिक सुधार, कमजोर देशों को महामारी समर्थन, वैश्विक स्वास्थ्य, जलवायु उपाय, अंतर्राष्ट्रीय कराधान और वित्तीय क्षेत्र से संबंधित विभिन्न मुद्दों पर विचार-विमर्श किया गया व समझौते हुए।

 

महामारी से स्थायी रूप से उबरने के लिए G-20 के वित्त मंत्री और केंद्रीय बैंक के गवर्नर मौद्रिक उपायों को समय से पहले वापस लेने से बचने, साथ ही वित्तीय स्थायित्व और दीर्घकालिक राजकोषीय स्थिरता को बनाए रखने व गिरावट के जोखिमों तथा नकारात्मक प्रभाव बढ़ने से रोकने पर सहमत हो गए। सीतारमण ने कहा कि संकट से सुधार की राह पर आने के लिए, सभी को टीकों की समान उपलब्धता सुनिश्चित करना एक बड़ी चुनौती है। वित्त मंत्री ने सुझाव दिया कि समर्थन जारी रखना, लचीलापन बढ़ाना, उत्पादकता में सुधार और संरचनागत सुधार हमारे नीतिगत लक्ष्यों में शामिल होने चाहिए।

 

अर्थव्यवस्था के डिजिटलीकरण से पैदा चुनौतियों के समाधान के लिए, G-20 FMCBG ने 8 अक्तूबर, 2021 को बेस इरोजन एंड प्रॉफिट शिफ्टिंग (बीईपीएस) पर OECD/G-20 इनक्लूसिव फ्रेमवर्क द्वारा जारी दो सिद्धांतों वाले समाधान और विस्तृत कार्यान्वयन योजना में उल्लिखित समझौते को समर्थन दे दिया है। G-20 FMCBG द्वारा G-20 कार्य योजना में वैश्विक अर्थव्यवस्था को एक मजबूत, टिकाऊ, संतुलित और समावेशी विकास की ओर ले जाने के लिए निर्धारित अग्रगामी एजेंडे को आगे बढ़ाने की अपनी प्रतिबद्धता की पुन: पुष्टि करने के साथ बैठक संपन्न हो गई।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Seema Sharma

Recommended News