उपराज्यपाल से पुरमंडल की सुध लेने की गुहार

2021-04-20T21:14:03.047

साम्बा (संजीव): मंदिरों के शहर जम्मू संभाग की धर्मनगरी पुरमंडल की दुर्दशा पर गहरा रोष प्रकट करते हुए शिवसेना बाला साहेब ठाकरे जम्मू-कश्मीर इकाई के नेताओं ने उपराज्यपाल मनोज सिन्हा से एक बार पुरमंडल पधारने एवं सुध लेने की अपील की है। पार्टी प्रदेशाध्यक्ष मनीश साहनी  समेत पार्टी के नेताओं ने आज देविका धर्म नगरी पुरमंडल का दौरा किया। साहनी ने बताया कि इस पवित्र नगरी की दुर्दशा को देख उन्हें हिन्दू मंदिरों एवं डोगरा विरासत को खत्म करने की साजि़श का आभास होने लगा है।

 

साहनी ने कहा कि यहां के प्राचीन मंदिर खंडहरों में तब्दील हो रहे हैं। प्राचीन शिवलिंग एवं पत्थरों पर अंकित भगवान शिव, गणेश एवं  नंदी की प्राचीन प्रतिमाएं दयनीय स्थित में हैं। डोगरा विरासत को दर्शाती 131 सराय एवं बावलियां खंडहर बन चुकी है । काली माता का मंदिर लुप्त हो चुका है। मंदिरों की देखरेख एवं पंडितों की कमी के कारण शिवलिंग गायब एवं चोरी हो रहे हैं। चारों तरफ गंदगी के ढेर लगे हैं। कर्मचारियों को पिछले पांच महीने का वेतन नहीं मिल रहा। 10 सालों से बतौर सफाई कर्मचारी अपनी सेवाएं दे रहे इन कर्मचारियों की छुट्टी की जा रही है। साहनी ने कहा कि संत कबीर, उस्ताद बिस्मिल्ला खान एवं महाराजा रणजीत सिंह और गुरु नानक समेत कई  महापुरुषों जिस देवका नगरी के दर्शन कर चुके हो, उस पवित्र स्थल की दुर्दशा एवं दयनीय स्थिति हिन्दू समाज का सिर झुका रही है। साहनी ने कहा कि  इसकी देखरेख  कर रहे धर्मार्थ ट्रस्ट एवं जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल माननीय मनोज सिन्हा से इस देव नगरी की सुध लेने की अपील करते है ।

 

साहनी ने कहा वह हिन्दुओं की धार्मिक भावनाओं को आहत होते नहीं देख सकते, अगर अगले कुछ दिनों में  इस पवित्र स्थल की सुध नहीं ली गई तो शिवसेना  इसकी देखरेख का जिम्मा उठाएगी। साहनी समेत अध्यक्ष महिला विंग मिनाक्षी छिब्बर, महासचिव विकास बख्शी, महिला सचिव गीता लखोतरा, डिम्पल ने  पुरमंडल का दौरा करने वाले शिवसेना नेताओं में शामिल थे।


Content Writer

Monika Jamwal

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static