रोहिंग्या मुस्लिमों पर शाह का ओवैसी को जवाब- ''एक बार लिखकर दे दें, मैं निकाल दूंगा''

2020-11-29T19:11:55.123

नेशनल डेस्कः हैदराबाद के निकाय चुनाव के प्रचार-प्रसार भारतीय जनता पार्टी ने पूरी ताकत झोंक दी है। आखिरी दिन अमित शाह ने मोर्चा संभाला। उन्होंने इस दौरान ओवैसी की पार्टी पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने एआईएमआईएम चीफ पर रोहिंग्या मुसलमानों को लेकर कहा कि ''जब वे कार्रवाई करते हैं तो ये विपक्षी पार्टियां हायतौबा करते हैं। उन्होंने कहा कि विपक्षी दल एक बार लिखकर दें कि बांग्लादेशी और रोहिंग्या को निकाल दें, फिर मैं कुछ करता हूं।

शाह ने तेलंगाना में रोहिंग्या मुसलमानों और बांग्लादेशियों की मौजूदगी को लेकर ओवैसी पर सवाल खड़े किए हैं। उन्होंने कहा, ''मैं जब कार्रवाई करता हूं तो ये लोग (विपक्षी दल) हायतौबा करते हैं। ये लोग एक बार लिखकर दे दें कि बांग्लादेशी और रोहिंग्या को निकाल दें फिर मैं करता हूं।' उन्होंने कहा कि सिर्फ चुनाव में बात करके कुछ नहीं होता। जब पार्लियामेंट में बहस होती है तब ये क्या करते हैं सारे देश ने देखा है।'' दरअसल, AIMIM चीफ ओवैसी ने कहा था कि अगर हैदराबाद में अवैध बांग्लादेशी और रोहिंग्या रहते हैं तो अमित शाह कार्रवाई क्यों नहीं करते. ओवैसी की इसी टिप्पणी का अमित शाह ने जवाब दिया है।

शाह का ओवैसी और टीआरएस से सवाल
शाह ने कहा, ''हम हैदराबाद को वंशवाद से लोकतंत्र की ओर ले जाना चाहते हैं, चाहे ओवैसी साहब की पार्टी हो या TRS हो, सब हमें सवाल करते हैं। मैं इसने पूछना चाहता हूं कि इतने बड़े तेलंगाना में आपको आपके परिवार के अलावा कोई नहीं मिलता है क्या? क्या किसी में कोई टैलेंट नहीं है?'' उन्होंने कहा, ''केसीआर और मजलिस ने 100 दिन की योजना का वादा किया था, इसका हिसाब हैदराबाद की जनता मांगती है। 5 साल में कुछ भी किया हो तो यहां की जनता के सामने रखिए। सिटिजन चार्टर का वादा किया था, उसका क्या हुआ


Yaspal

Recommended News