अमरनाथ यात्रा से पहले जम्मू कश्मीर के सांबा जिले में अंतरराष्ट्रीय सीमा के समीप सघन तलाशी अभियान

punjabkesari.in Wednesday, May 11, 2022 - 09:18 PM (IST)

जम्मू : जम्मू कश्मीर के सांबा जिले में पुलिस एवं अन्य सुरक्षाबलों ने अगले महीने अमरनाथ यात्रा शुरू होने से पहले सीमावर्ती गांवों को किसी भी सुरक्षा संबंधी खतरों से मुक्त रखने के लिए अंतरराष्ट्रीय सीमा के समीप बुधवार को सघन तलाशी अभियान चलाया। अधिकारियों ने यह जानकारी दी।


अधिकारियों ने बताया कि पुलिस, सेना, सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) एवं केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) का यह संयुक्त अभियान सीमा बाड़बंदी के समीप ग्लाड गांव एवं निकटवर्ती क्षेत्रों में चल रहा है ।

 
सांबा के पुलिस उपाधीक्षक (डीएसपी-अभियान) जी आर भारद्वाज ने संवाददाताओं से कहा, " इस अभियान में प्रमुख रूप से ग्लाड गांव पर सीमा से एवं (जम्मू पठानकोट) राष्ट्रीय राजमार्ग से उसकी निकटता के कारण बल दिया जा रहा है।"

 

इस तलाशी अभियान की अगुवाई कर रहे भारद्वाज ने कहा कि विभिन्न सुरक्षाबलों का यह समन्वित प्रयास 30 जून से शुरू हो रही अमरनाथ यात्रा जैसे आगामी कार्यक्रमों से पहले सीमावर्ती गांवों को सुरक्षा संबंधी खतरों से मुक्त रखना है।

 

जिले के चक फकीरा में बीएसएफ द्वारा अंतरराष्ट्रीय सीमा के समीप चार मई को एक सुरंग का पता लगाये जाने का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि अमरनाथ यात्री राजमार्गों का उपयोग करते हैं एवं ऐसे में उनकी सुरक्षा के लिए चौकसी बढ़ाना जरूरी है क्योंकि "हमारा पूरा ध्यान इस यात्रा को शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न करने को सुनिश्चित करने पर है।"

 

भारद्वाज ने कहा,"इस अभियान की योजना सीमावर्ती गांवों के ग्रामीणों तक पहुंच कायम करने के लिए बनायी गयी है। हम उनसे किसी भी संदिग्ध हरकत की तत्काल सूचना सुरक्षाबलों को देने को कह रहे हैं। हम सुरंग विरोधी अभियान भी चला रहे हैं।"

 

उन्होंने कहा कि नदी-नालों एवं जंगली घासों वाले इन क्षेत्रों की सघन तलाशी की गयी क्योंकि राष्ट्रविरोधी तत्व सीमा पार से तस्करी के जरिए लाये गये या ड्रोन के माध्यम से गिराये गये हथियारों को छिपाने के लिए आम तौर पर इसी क्षेत्र का इस्तेमाल करते हैं।

 

इस बीच पुंछ जिले में मनकोटे सेक्टर के कासबलारी गांव में भी सेना एवं पुलिस का संयुक्त अभियान चल रहा है। अधिकरियों के अनुसार संदिग्ध गतिविधियों की सूचना मिलने के बाद नियंत्रण रेखा के समीप वन्यक्षेत्र में सुबह करीब साढ़े आठ बजे यह अभियान शुरू किया गया।
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Monika Jamwal

Related News

Recommended News