तीस हजारी हिंसा पर SC ने वकीलों से कहा, ताली कभी एक हाथ से नहीं बजती

11/8/2019 2:56:38 PM

नई दिल्ली: तीस हजारी कोर्ट में पुलिस और वकीलों के बीच हुई झड़प पर सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को वकीलों को भी नसीहत दी। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि ताली कभी एक हाथ से नहीं बजती है। कोर्ट ने कहा कि समस्या दोनों तरफ से है। कोर्ट ने कहा कि हम इससे ज्यादा कुछ और नहीं कहना चाहते हैं, किसी कारण से ही चुप हैं।

PunjabKesari

वहीं इस दौरान वकीलों ने पुलिस अत्याचार की शिकायत की, इस पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि इससे हम सहमत नहीं। बार काउंसिल के अध्यक्ष मनन मिश्रा ने कोर्ट को बताया कि उम्मीद है कि दो दिनों के अंदर समाधान हो जाएगा। ओडिशा के वकीलों द्वारा हड़ताल से संबंधित एक मामले की सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने यह टिप्पणियां कीं।

PunjabKesari

बता दें कि बता दें कि कुछ दिन पहले दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट परिसर में पुलिस लॉकअप के पास पार्किंग को लेकर एक पुलिस का वकील के साथ विवाद हो गया था जिसके बाद वहां हालात दंगे और हिंसा वाले बन गए। वकीलों ने पुलिस की गाड़ियों में आग लगा दी और पुलिस वालों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा। इतना ही नहीं वकीलों ने महिला अधिकारियों के साथ भी बदसलूकी और धक्का-मुक्की की जिसके वीडियो भी सामने आए हैं।

PunjabKesari


Seema Sharma

Related News