See More

चीन को समर्थन देकर फंसा पाक; अपने ही विदेश विभाग ने फटकारा- "सुधरो वर्ना भुगतना पड़ेगा खामियाजा"

2020-07-05T10:20:14.49

इस्लामाबादः चीन और पाकिस्तान के दोस्ताने से सारी दुनिया वाकिफ है। चीन की शह पर पाकिस्तान बार-बार भारत की खिलाफत करता रहता है। लेकिन इस बार पाक को चीन को समर्थन देना अपने ही देश में भारी पड़ता नजर रहा है। पाक के विदेश विभाग ने प्रधानमंत्री इमरान खान को चेतावनी दी है कि अगर पाकिस्तान चीन का समर्थन नहीं बंद करता तो उसे वैश्विक स्तर पर अलगाव का सामना करना पड़ेगा। सूत्रों के हवाले से एक रिपोर्ट में बताया गया कि विदेश विभाग ने कहा है कि भारत से तनाव और कोरोना वायरस के कारण चीन वैश्विक स्तर पर आलोचनाओं का सामना कर रहा है।

PunjabKesari

अगर पाकिस्तान चीन के साथ अपनी नीतियों की समीक्षा नहीं करता है तो उसे आर्थिक महाशक्तियों के गुस्सा का खामियाजा भुगतना होगा। कोरोना संकट के कारण यह शक्तियां भारत के साथ तनातनी के बाद चीन को वैश्विक स्तर पर अलग-थलग करने के प्रयासों में जुटी हैं। चीन का समर्थन कर रहे पाकिस्तान को झटका उस वक्त लगा जब यूरोपीय यूनियन और ब्रिटेन ने पाकिस्तानी एयरलाइंस के विमानों को उड़ान भरने के लिए बैन कर दिया।

PunjabKesari

PunjabKesari

पाकिस्तान ने देशों को समझाने का प्रयास किया कि उसके चालक (पायलट) काबिल हैं, हालांकि इन बातों का कोई असर नहीं हुआ। पाकिस्तानी सूत्रों की मानें तो बलूचिस्तान और गिलगित बाल्टिस्तान में जिस तरह से चीन CPEC के लिए पाक संसाधनों का शोषण और स्थानीय लोगों को नुकसान पहुंचा रहा है, उससे पाकिस्तानियों में चीन को लेकर गुस्सा है। बलूच और गिलगित बालटिस्तान के लोगों को नौकरियां नहीं दी जाती है, बल्कि चीन की कंपनियां कम पैसों के लिए चाइनीज मजदूरों को प्राथमिकता देती हैं।

 


Tanuja

Related News