मुश्किल वक्त में एकजुट हों राज ठाकरे और उद्धव ठाकरे? एनसीपी के इस नेता का सुझाव

punjabkesari.in Tuesday, Jun 28, 2022 - 02:57 PM (IST)

नेशनल डेस्क: महाराष्ट्र में उद्धव सरकार पर संकट के बादल मंडरा रहे है। उनके विधायक और सांसद एक-एक करके साथ छोड़ते जा रहे हैं। शिवसेना के कुल 55 विधायकों में से करीब 39 बागी हो चुके हैं और एकनाथ शिंदे से जा मिले हैं। इसके अलावा शिवसेना के कुल 18 सांसदों में से 14 सांसद भी शिंदे के संपर्क में बताये जा रहे हैं। इस बीच एनसीपी की नेता रूपाली पाटिल ठोंबरे ने ठाकरे परिवार को एकजुटता का संदेश दिया है। पाटिल ने कहा कि महाराष्ट्र की राजनीति के मौजूदा हालात को देखते हुए उद्धव ठाकरे और राज ठाकरे को साथ आने की जरूरत है। 

एकजुट हों राज ठाकरे और उद्धव ठाकरे
एनसीपी की नेता रूपाली पाटिल ने कहा कि यह जाहिर है कि  महाराष्ट्र की स्थिति के पीछे कौन है और कौन सत्ता पाने की कोशिश कर रहा है। लेकिन हिंदू हृदय सम्राट बालासाहेब ठाकरे ने मराठी लोगों के अस्तित्व और विकास के लिए बहुत बड़ा योगदान दिया है। ऐसे में उनके दो बच्चों के एक साथ आने का समय है। पाटिल ने कहा कि हम जैसे राजनीतिक कार्यकर्ताओं को लगता है कि एक भाई को विकट परिस्थिति में अपने भाई के साथ मजबूती से खड़ा रहना चाहिए। शिवसेना और मनसे उनके बयान पर क्या प्रतिक्रिया देती है यह देखने वाली बात होगी। वहीं, महाराष्ट्र की राजनीति में जारी सियासी संकट के बीच अब हर कोई देख रहा है कि उद्धव ठाकरे क्या कदम उठाएंगे। 

पास 50 विधायकों का समर्थन है- एकनाथ शिंदे
शिवसेना के बागी नेता एकनाथ शिंदे ने, उनके समूह के 20 विधायकों के महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाले दल के संपर्क में होने के दावे को खारिज करते हुए मंगलवार को कहा कि वह जल्द ही मुंबई लौटेंगे। उन्होंने शिवसेना से उनके समूह के उन विधायकों से नाम का खुलासा करने को कहा, जो कथित रूप से पार्टी के संपर्क में हैं। शिंदे और उनके समूह के विधायक पिछले एक सप्ताह से यहां एक लग्जरी होटल में ठहरे हुए हैं। शिंदे ने होटल के बाहर संवाददाताओं से कहा कि उनके पास 50 विधायकों का समर्थन है। उन्होंने कहा, ‘‘ये सभी विधायक हिंदुत्व को आगे ले जाने के लिए स्वेच्छा से यहां आए हैं।'' शिवसेना ने दावा किया है कि गुवाहाटी में शिंदे के साथ होटल में ठहरे हुए पार्टी के करीब 20 विधायक उसके संपर्क में है और वे महाराष्ट्र लौटना चाहते हैं। 

फडणवीस दिल्ली के लिए रवाना
महाराष्ट्र में सत्तारूढ़ शिवसेना के विधायकों के विद्रोह के बाद मची राजनीतिक उथल-पुथल के बीच, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता देवेंद्र फडणवीस एक वकील के साथ मंगलवार को दिल्ली के लिए रवाना हो गए। महाराष्ट्र में शिवसेना के नेतृत्व वाली महा विकास आघाड़ी (एमवीए) सरकार संकट का सामना कर रही है क्योंकि एकनाथ शिंदे के नेतृत्व में उसके कई विधायकों ने विद्रोह कर दिया है और वर्तमान में गुवाहाटी में डेरा डाले हुए हैं। पार्टी के पदाधिकारी ने कहा, ‘‘फडणवीस एक वकील के साथ नयी दिल्ली के लिए रवाना हुए हैं। वह वहां भाजपा के कुछ वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात करेंगे।''


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Editor

rajesh kumar

Related News

Recommended News