मुंडका अग्निकांड में पुलिस का एक्शन, फैक्ट्री मालिक के दोनों बेटे गिरफ्तार, अब तक 27 लोगों की मौत

punjabkesari.in Saturday, May 14, 2022 - 01:24 PM (IST)

नेशनल डेस्क: राष्ट्रीय राजधानी के मुंडका अग्निकांड मामले में पुलिस ने एक निजी कंपनी के दो मालिकों को गिरफ्तार कर लिया, जबकि जिस इमारत में हादसा हुआ उसके मालिक की तलाश की जा रही है। पुलिस सूत्रों ने यहां बताया कि सीसीटीवी और राउटर बनाने वाली कंपनी के मालिक हरीश गोयल और वरुण गोयल को गैर गैरइरादतन हत्या समेत विभिन्न आपराधिक धाराओं के तहत गिरफ्तार किया गया है। मकान मालिक मनीष लाकड़ फरार है तथा पुलिस उसकी तलाश में जुटी हुई है।

घटना में मारे गए लोगों के परिजनों को 10-10 लाख रुपये
बता दें कि, पश्चिमी दिल्ली के मुंडका में शुक्रवार को चार मंजिला इमारत में आग लगने से कम से कम 27 लोगों की मृत्यु हो गई और करीब 12 लोग गंभीर रूप से झुलस गए। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मुंडका स्थित एक इमारत में आग लगने की घटना में मारे गए लोगों के परिजनों को शनिवार को 10-10 लाख रुपये और घायलों को 50-50 हजार रुपये का मुआवजा देने की घोषणा की। केजरीवाल और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने स्थिति का जायजा लेने के लिए घटनास्थल का दौरा किया। मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘घटना की मजिस्ट्रेटी जांच के आदेश दे दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि आग भीषण थी और शव इस हद तक झुलस गए थे कि उनकी पहचान करना मुश्किल हो गया है। केजरीवाल ने कहा, ‘‘दिल्ली सरकार लापता लोगों और मृतकों की पहचान के लिए मदद मुहैया करा रही है।'' दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने शुक्रवार की रात घटनास्थल का दौरा किया था।

तलाश अभियान के दौरान जले हुए शव मिले
दिल्ली के मुंडका इलाके में जिस इमारत में एक दिन पहले भयंकर आग लगी थी, उसकी दूसरी मंजिल से शनिवार को शव बरामद किए गए जो बुरी तरह जल गए हैं। दिल्ली दमकल सेवा (डीएफएस) के निदेशक अतुल गर्ग ने बताया कि ऐसा संदेह है कि वातानुकूलित यंत्र (एसी) में धमाका होने से आग लगी होगी। पुलिस ने बताया कि चार मंजिला इमारत में शुक्रवार को आग लगने की घटना में अभी तक 27 लोगों की मौत हो चुकी है। आग इमारत की पहली मंजिल में लगी जहां सीसीटीवी कैमरे और राउटर बनाने की कंपनी का कार्यालय है। इसके बाद आग फैल गई। पुलिस उपायुक्त (बाहरी) समीर शर्मा ने बताया कि कंपनी के मालिक हरीश गोयल और उसके भाई वरुण गोयल को गिरफ्तार कर लिया गया है। पहले उन्हें हिरासत में लिया गया था।
 

4.45 बजे मिली आग लगने की सूचना
पुलिस के अनुसार, आग लगने की सूचना शुक्रवार की शाम 4.45 बजे मिली जिसके बाद वे फौरन घटनास्थल पर पहुंचे। यह आग मुंडका मेट्रो स्टेशन के पिलर नंबर 544 के निकट लगी। उन्होंने बताया कि लोगों को बचाने के लिए पुलिस अधिकारियों ने इमारत की खिड़कियों के शीशे तोड़े। घायलों को संजय गांधी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। शुरुआती पूछताछ में पुलिस को पता चला कि चार मंजिला इमारत में कंपनियों को ऑफिस स्पेस मुहैया कराया जाता था। उन्होंने बताया कि पहली मंजिल पर जिस कंपनी का कार्यालय था उसके 50 से अधिक कर्मचारियों को बचाया गया जबकि 27 शव बरामद किए गए हैं।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Editor

rajesh kumar

Related News

Recommended News