पीयूष गोयल बोले- गतिशक्ति योजना से लॉजिस्टिक लागत होगी कम, इकॉनोमी को मिलेगी रफ्तार

10/14/2021 10:02:12 PM

नई दिल्लीः वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने बृहस्पतिवार को कहा कि दो और देशों तथा एक समूह ने भारत के साथ मुक्त व्यापार समझौते (एफटीए) पर बातचीत में दिलचस्पी दिखाई है। हालांकि, मंत्री ने इन देशों के नामों का खुलासा नहीं किया। उन्होंने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘हम ब्रिटेन, यूरोपीय संघ, संयुक्त अरब अमीरात और ऑस्ट्रेलिया के साथ एफटीए पर बातचीत कर रहे हैं और पिछले तीन दिनों में दो और देशों और एक समूह ने दिलचस्पी दिखाई है कि वे एफटीए के लिए बातचीत शुरू करना चाहते हैं।''

उल्लेखनीय है कि मुक्त व्यापार समझौते के तहत, दो भागीदार देशों के बीच व्यापार किए गए माल की अधिकतम संख्या पर सीमा शुल्क को कम या समाप्त कर दिया जाता है। इसके अलावा, वे सेवाओं में व्यापार बढ़ाने और निवेश को बढ़ावा देने के लिए मानदंडों को उदार बनाते हैं।

‘मल्टी-मॉडल' संपर्क व्यवस्था के लिए पीएम गति शक्ति राष्ट्रीय मास्टर प्लान के बारे में बात करते हुए, गोयल ने कहा कि इसका उद्देश्य ‘लॉजिस्टिक' लागत को कम करने और अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के लिए एक एकीकृत तरीके से बुनियादी ढांचे का विकास करना है। उन्होंने कहा कि इससे निवेश आकर्षित करने और नौकरियों के सृजन में मदद मिलेगी। इससे बुनियादी ढांचे के तेज गति से विकास में भी मदद मिलेगी और हजारों करोड़ रुपये की बचत होगी। उन्होंने कहा, ‘‘गति शक्ति के कई फायदे हैं.. इस उत्कृष्ट योजना से बुनियादी ढांचा परियोजनाओं को समय पर पूरा करने में मदद मिलेगी।''


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Yaspal

Recommended News