जासूसी कांड: एकसाथ आए 14 विपक्षी दल, राहुल बोले- पीछे नहीं हटेंगे...संसद में चर्चा की मांग

2021-07-28T12:03:08.873

नेशनल डेस्क: कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी तथा विपक्ष के कई अन्य नेताओं ने फोन टैपिंग मामले में लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला को स्थगन प्रस्ताव दिया है। राहुल तथा विपक्ष के नेताओ ने इस मुद्दे पर संसद में चर्चा करानी की मांग की है। विपक्ष दलों की बैठक में राहुल गांधी ने कहा कि पेगासस जासूसी कांड को लेकर किसी तरह का समझौता नहीं करेंगे।

 

जासूसी कांड पर 10 दलों की ओर से नोटिस दिया जाएगा, जिस पर राहुल गांधी का भी हस्ताक्षर होंगे, अभी तक विपक्ष अलग-अलग मुद्दों पर बंटा हुआ था, लेकिन इस बैठक के बाद एक साथ पेगासस के मुद्दे पर सरकार को घेरने की तैयारी है।

 

विपक्ष ने मामले को गंभीर बताते हुए उसकी जांच की मांग की है लेकिन सरकार उनकी बात नहीं सुन रही है इसलिए आगे की रणनीति पर विचार के लिए आज विपक्ष के नेताओं की बैठक बुलाई गई। बता दें कि  कांग्रेस सहित सभी विपक्षी दल इस मामले की जांच की मांग कर रहे हैं और इस मुद्दे पर संसद में हंगामा हो रहा है। इस वजह से मानसून सत्र में एक दिन भी संसद में कामकाज नहीं हो सका है। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Seema Sharma

Recommended News