शाहदरा, सीलमपुर ही नहीं लुटियन दिल्ली में संसद भवन और सेना भवन भी 'अग्निपरीक्षा' में फेल

12/9/2019 5:38:12 AM

नेशनल डेस्कः दिल्ली की अनाज मंडी में रविवार को लगी भीषण आग में 43 लोगों की जान चली गई। सदर बाजार की संकरी गलियों में दमकल कर्मियों को पहुंचने में काफी मशक्कत करनी पड़ी। मगर ऐसा नहीं है कि सिर्फ सदर, शाहदरा या सीलमपुर की ये संकरी गलियां ही आग से सुरक्षित नहीं है। बल्कि संसद भवन, वायु भवन और सेना भवन जैसी वीआईपी बिल्डिंग के सुरक्षा मानकों में भी खामी हैं।
PunjabKesari
दिल्ली फायर सर्विस (DFS) ने जांच में पाया कि उच्च सुरक्षा वाली इमारतों में आग से बचने के लिए पर्याप्त उपाय नहीं किए गए हैं। ऐसे में अगर यहां आग लगती है, तो बड़ा नुकसान हो सकता है। वीआईपी मानी जाने वाली लुटियंस दिल्ली में 100 से ज्यादा ऐसी इमारतें हैं, जहां आग से बचाव के पर्याप्त उपाय नहीं हैं। 
PunjabKesari
दिल्ली फायर सर्विस के प्रमुख अतुल गर्ग ने बताया कि इन इमारतों को अनापत्ति प्रमाण पत्र (NoC) की जरूरत नहीं है क्योंकि ये बहुत ही पुरानी हें। जांच में हमने कई खामियां पाईं और इसमें सुधार करने के लिए बदलाव भी सुझाए।
PunjabKesari
पूर्व डीएफएस प्रमुख आरसी शर्मा इस विभाग में करीब 22 साल रहे। उन्होंने कहा कि ये इमारतें आधुनिक जरूरतों को पूरा नहीं कर सकती है क्योंकि ये बहुत साल पहले बनी हैं। आरसी शर्मा ने कहा, 'ये इमारतें बहुत पुरानी हैं और काफी पहले बनी थीं। इनमें कम्पार्टमेंट और सीढ़ियों के पास दरवाजा बनाने जैसी चीजें नहीं कर सकते। इस वजह से ये इमारतें सुरक्षा मानकों पर खरी नहीं उतरी हैं।' डीएफएस ने पिछले साल इन खामियों को लेकर संसद भवन एक पत्र लिखा था। इसमें उन वीआईपी इमारतों का जिक्र किया गया है, जहां सुरक्षा मानकों में खामियां हैं।


Yaspal

Related News