करतारपुर गुरुद्वारा परिसर में पाकिस्तानी मॉडल ने खिंचवाई ‘आपत्तिजनक’ तस्वीरें, मच गया बवाल

punjabkesari.in Monday, Nov 29, 2021 - 12:32 PM (IST)

इस्लामाबादः  पाकिस्तान स्थित करतारपुर गुरुद्वारा साहिब के परिसर में महिलाओं के कपड़ों के विज्ञापन के लिए एक पाकिस्तानी मॉडल द्वारा आपत्तिजनक तस्वीरें खिंचवाने के बाद विवाद खड़ा हो गया है। सूत्रों के मुताबिक  पाकिस्तान में महिलाओं के ऑनलाइन कपड़ों की दुकान ‘मन्नत’ चलाने वाली महिला ने  गुरुद्वारा  साहिब के परिसर में एक फोटोशूट करवाया और  दरबार साहिब की ओर  पीठ करके नंगे सिर  जमकर पोज दिए।

PunjabKesari

ऑनलाइन स्टोर के मालिक ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर नंगे सिर वाली मॉडल की कई ‘अत्यधिक आपत्तिजनक’ तस्वीरें भी पोस्ट कीं जिनके वायरल होने के बाद बवाल मच गया । तस्वीरों में महिला लाल रंग का सूट पहने कैमरे के लिए  बिना सिर ढके  पोज देती हुई नजर आ रही है और उसके बैकग्राउंड में गुरुद्वारा दरबार साहिब है।  सिख समुदाय ने मॉडल की इस हरकत पर आपत्ति जताई है।  

PunjabKesari
 उल्लेखनीय है कि सिखों के सबसे बड़े प्रतिनिधि निकाय शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक समिति (SGPC) ने गुरुद्वारा परिसर के अंदर पोस्टर चिपकाए हैं, जिसमें भक्तों को मनोरंजन वीडियो शूट नहीं करने की चेतावनी दी गई है, क्योंकि उनमें से कुछ को टिकटॉक वीडियो की शूटिंग करते हुए पकड़ा गया था। इस घटना पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए, दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधन समिति के पूर्व अध्यक्ष परमजीत सिंह सरना ने बताया कि यह एक ‘अत्यधिक आपत्तिजनक’ कृत्य है जिसने सिख धार्मिक भावनाओं को ‘गंभीर रूप से आहत’ किया है।

PunjabKesari
 
सरना ने कहा कि वह प्राथमिकता के आधार पर इस मुद्दे को पाकिस्तान इवैक्यूई ट्रस्ट प्रॉपर्टी बोर्ड के अध्यक्ष डॉ अमर अहमद के समक्ष उठाएंगे और उनसे पीएमयू के कर्मचारियों को सिख ‘रेहत मर्यादा’ (धार्मिक आचार संहिता) के बारे में जागरूक करने के लिए कहेंगे। उन्होंने पाकिस्तानी अधिकारियों से सिख ‘मर्यादा’ के बारे में उर्दू में लिखित निर्देश देने का आह्वान किया। उन्होंने पाकिस्तान सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (PSGPC) और नरोवाल में स्थानीय अधिकारियों से भी आग्रह किया कि ऐतिहासिक मंदिर के आगंतुकों को गुरुद्वारों में लागू सिख आचार संहिता के बारे में जागरूक किया जाना चाहिए। उन्होंने एक मीडिया बयान में कहा, “सिर ढकने और पवित्र स्थल पर पीठ न दिखाने के निर्देश उर्दू और अंग्रेजी में दिए जाने चाहिए।”


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tanuja

Related News

Recommended News