पाक ने फिर दिखाया अपना असली चेहरा, 26/11 मुंबई हमले में शामिल 10 आतंकियों के लिए करेगा प्रार्थना

2020-11-26T15:47:30.29

नेशनल डेस्क: 12 साल पहले  यानी 26 नवंबर 2008 भारत की आर्थिक राजधानी मुंबई को दहलाने वाले आतंकियों के प्रति पाकिस्तान सहानुभूति दिखा रहा है। आतंकी संगठन जमात-उद-दावा आज मुंबई हमले में मारे गए 10 आतंकियों के लिए आज प्रार्थना करेगा, जिसके लिए एक सभा का आयोजन किया जा रहा है। 

 

मस्जिदों में होगी प्रार्थना
हिंदुस्तान टाइम्स से मिली जानकारी के अनुसार यह विशेष प्रार्थना जमात की मस्जिदों में होगी। मुंबई हमले में कत्लेआम करने वाले आतंकियों की याद में यह प्रार्थना सभा की जाएगी। सूत्रों के अनुसार दावा द्वारा फरमान जारी कर इस कार्यक्रम में जुटने को कहा गया है। कुख्‍यात आतंकी हाफिज सईद जमात-उद-दावा का सरगना है। मुंबई हमले का असली मास्टरमाइंड वही था, उसके इशारे पर ही भारत को दहलाने का ​काम किया गया था। 

 

वैश्विक आतंकवादी घोषित हो चुका है हाफिज
बता दें कि संयुक्त राष्ट्र हाफिज सईद को वैश्विक आतंकवादी घोषित कर चुका है और अमेरिका ने उस पर एक करोड़ अमेरिकी डॉलर का इनाम रखा है। उसे पिछले साल 17 जुलाई को आतंकी वित्त पोषण के मामलों में गिरफ्तार किया गया था। आतंकी वित्त पोषण के दो मामलों में उसे इस साल फरवरी में आतंकवाद निरोधी अदालत द्वारा 11 साल कैद की सजा सुनाई गई थी। वह लाहौर की कड़ी सुरक्षा वाली कोट लखपत जेल में बंद है।

 

सुरक्षाबलों ने मार गिराए थे आतंकी 
गौरतलब है कि पाकिस्तान के लश्कर-ए-तैयबा के 10 आतंकवादियों ने चार दिनों तक मुंबई में भारी तबाही मचायी थी। चबाड हाउस में छह यहूदियों समेत मुंबई में कम से कम 166 लोग मारे गए थे और 300 से ज्यादा लोग घायल हुए थे। इस हमले के दौरान भारतीय सुरक्षाबलों ने लश्कर के 9 हथियारबंद आतकंवादियों को मार गिराया था, जबकि एक, अजमल कसाब को 21 नवंबर 2012 को कानून की उचित प्रक्रिया के बाद फांसी पर लटका दिया गया था। 


vasudha

Recommended News