पुरमंडल का रजूल गांव ,यहां एक ही तालाब से पानी पीते हैं इंसान और मवेशी

02/01/2021 10:07:55 PM

साम्बा (संजीव): साम्बा जिला मुख्यालय से चंद किलोमीटर दूर एक गांव ऐसा भी है जहां पर इंसान और मवेशी एक ही तालाब से पानी पीते है। जिले के पुरमंडल ब्लॉक का यह गांव है रजूल। इस गांव के लोगों को अपना जीवन यापन करने के लिए जो रोजमर्रा का सामान चाहिए, उसके लिए 7 किलोमीटर पैदल पहाड़ी रास्ता तय करके इन्हें पुरमंडल में लेने आना पड़ता है। यह वो रास्ता है जो देविका नदी से होकर गुजरता है और दो पहाड़ों को पार करने के बाद तीसरे पहाड़ की चोटी पर यह गांव बसा हुआ है।

PunjabKesari

इस गांव को जाने के लिए आज भी कोई पक्का रास्ता नहीं बन पाया है। स्थानीय लोगों ने खुद ही गांव के लिए रास्ता बनाया है लेकिन बरसात के दिनों में इस रास्ते पर पैदल चलना भी मौत को दावत देने के सामान है। पंजाब केसरी की टीम ने इस गांव में पहुंच कर वहां पर जाकर लोगों के हालात का जायजा लिया तो ग्रामीणों बताया कि उनके गांव में एक भी शौचालय नहीं है। स्वच्छ भारत मिशन के तहत गांव में एक भी न तो व्यक्तिगत और न ही सार्वजनिक शौचालय बनाया गया है। 

PunjabKesari
    खुले में शौच से मुक्ति के दावों के बावजूद आज भी गांव के लोग खुले में शौच के लिए जाते हंै। लोगों ने बताया कि गांव में यदि कोई व्यक्ति खासतौर पर गर्भवती महिला बीमार हो जाए तो उसे चारपाई पर डालकर नीचे पुरमंडल अस्पताल तक लाना पड़ता है। गांव के बच्चों को पांचवी तक की शिक्षा के बाद छठी कक्षा की पढ़ाई के लिए 7 किलोमीटर दूर जाना पड़ता है। छोटे बच्चों को लंबा व खतरनाक रास्ता तय करना पड़ता है। वहीं स्थानीय लोगों का कहना है कि मूलभूत सुविधाओं के अभाव के चलते आधे से ज्यादा परिवार गांव को छोड़ कर जा चुके हैं। गांव की हालत के लिए नेताओं व सरकारों को जिम्मेदार बताते हुए इन्होंने प्रशासन से मांग की है कि इनकी ओर ध्यान दिया जाए। 
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Monika Jamwal

Recommended News