निर्भया के दोषियों को तिहाड़ के जेल नंबर 3 में किया शिफ्ट, यहीं है फांसी कोठी

2020-01-16T22:28:05.79

नई दिल्लीः निर्भया सामूहिक दुष्कर्म एवं हत्याकांड के चारों दोषियों को गुरुवार को तिहाड़ जेल परिसर के कारावास नंबर तीन में स्थानांतरित किया गया जहां उन्हें फांसी पर लटकाया जाना है। जेल अधिकारियों ने यह जानकारी दी। मामले में आरोपी विनय शर्मा, अक्षय कुमार सिंह, मुकेश कुमार सिंह और पवन गुप्ता को 22 जनवरी को फांसी दी जानी है।
PunjabKesari
हालांकि, दिल्ली सरकार ने बुधवार को उच्च न्यायालय को बताया था कि एक दोषी की दया याचिका लंबित होने के मद्देनजर फांसी को स्थगित किया जाना चाहिए। जेल के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, ‘‘ हमनें चारों दोषियों को जेल संख्या तीन में स्थानांतरित कर दिया है, जहां पर फांसी दी जानी है।'' उन्होंने बताया कि अभी तक विनय शर्मा को तिहाड़ की जेल संख्या चार में रखा गया था जबकि मुकेश और पवन जेल संख्या दो में रखे गए थे।

शुक्रवार को दाखिल करनी होगी रिपोर्ट
नियमों के तहत जेल अधिकारियों को कोर्ट और राज्य सरकार को सूचित करना होगा कि दया याचिका दायर की गई है और फांसी की सजा को स्थगित करना है। जेल अधिकारियों को रिपोर्ट दाखिल करनी होगी कि जब तक राष्ट्रपति द्वारा निर्णय नहीं दे दिया जाता, तब तक कैदियों को फांसी नहीं दी जाएगी। यह रिपोर्ट शुक्रवार को अदालत के समक्ष दायर की जानी है।
PunjabKesari
इस बीच कोर्ट ने जेल अधिकारियों से निर्भया रेप मामले के दोषी अक्षय, विनय और पवन से जुड़े सारे कागजात और रिपोर्ट सौंपने का आदेश दिया है। कोर्ट ने कहा कि इस मामले में जेल अथॉरिटी एक विस्तृत रिपोर्ट दाखिल करे। कोर्ट इस मामले में शुक्रवार को दोबारा सुनवाई करेगा।

निर्भया की मां ने दिल्ली सरकार पर लगाया आरोप
सुनवाई के बाद निर्भया के दोषियों की फांसी टल गई। कोर्ट के फैसले से निर्भया की मां नाराज हैं। उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार नहीं चाहती है कि दोषियों को फांसी हो। उन्होंने कहा, 'फांसी में हो रही देरी के लिए दिल्ली सरकार जिम्मेदार है। दोषियों को फायदा क्यों मिल रहा है। मेरी बेटी की हत्या हुए सात साल हो गए हैं, लेकिन आज भी मैं न्याय के लिए लड़ रही हूं। यह सरकार की गलती है। मैं एक कोर्ट से दूसरे कोर्ट जा रही हूं बस. मुझे क्यों सजा दी जा रही है।
PunjabKesari

 

 


Yaspal

Related News