नवाब मलिक ने क्रूज ड्रग्स मामले का किया पर्दाफाश, ‘फर्जीवाड़े' को उजागर करने की अब चुका रहे कीमत: राउत

punjabkesari.in Saturday, May 28, 2022 - 06:30 PM (IST)

नेशनल डेस्क: शिवसेना सांसद संजय राउत ने शनिवार को राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के नेता नवाब मलिक को अभिनेता शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान से संबंधित ‘क्रूज पर मादक पदार्थ की बरामदगी' मामले के पीछे के ‘फर्जीवाड़े' को उजागर करने के लिए बधाई दी। कोल्हापुर में राउत ने संवाददाताओं से कहा कि मलिक इस मामले के पीछे के ‘फर्जीवाड़े' और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के ‘असली चेहरे' को बेनकाब करने की कीमत चुका रहे हैं। स्वापक नियंत्रण ब्यूरो (एनसीबी) ने ‘क्रूज पर मादक पदार्थ की बरामदगी' मामले में आर्यन खान को क्लीनचिट दे दी। मामले में आर्यन गिरफ्तार किए गए थे और उन्हें 22 दिन जेल में रहना पड़ा था।

एनसीबी अधिकारियों ने कहा कि आर्यन और पांच अन्य का नाम ‘‘पर्याप्त सबूतों के अभाव'' के कारण एजेंसी के आरोप पत्र में नहीं है। इसके बाद, सरकार ने समीर वानखेड़े के खिलाफ मामले की कथित तौर पर लचर जांच करने को लेकर कार्रवाई करने का आदेश दिया है। मलिक ने एनसीबी के तत्कालीन अधिकारी वानखेड़े के खिलाफ चौतरफा अभियान शुरू कर उन पर शाहरुख खान से धन की उगाही के नाम पर आर्यन को मामले में फंसाने का आरोप लगाया था। मलिक को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने भगोड़े गैंगस्टर दाऊद इब्राहिम और उसके सहयोगियों की गतिविधियों से जुड़े धन शोधन जांच के सिलसिले में फरवरी में गिरफ्तार किया था।

राउत ने कहा, ‘‘मैं नवाब मलिक को मामले के पीछे के तमाशे को उजागर करने और इसे तार्किक अंत तक ले जाने के लिए बधाई देता हूं। उन्होंने भाजपा का पर्दाफाश किया, जिसकी कीमत वह चुका रहे हैं।'' क्या शिवसेना वानखेड़े के खिलाफ कार्रवाई की मांग करेगी, यह पूछे जाने पर राउत ने कहा, ‘‘हमें क्यों मांग करनी चाहिए? क्या सरकार नहीं देख सकती कि कैसे उन्होंने एक लड़के को झूठे मामले में फंसाया और उसकी जिंदगी तबाह कर दी। लड़के को एक महीने की जेल हुई थी। क्या यही न्याय है?'' भाजपा के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार पर ‘‘राजनीतिक प्रतिशोध'' के तहत काम करने का आरोप लगाते हुए शिवसेना नेता ने कहा, ‘‘केंद्रीय जांच एजेंसियों पर राजनीतिक दबाव के कारण, महा विकास आघाड़ी (एमवीए) सरकार के दो मंत्री जेल में बंद हैं।

कल, ईडी ने शिवसेना के मंत्री अनिल परब के परिसर पर छापा मारा। यह राजनीतिक प्रतिशोध का परिणाम है।'' राज्यसभा की सीटों को लेकर आगामी चुनाव के बारे में एक सवाल पर राउत ने कहा कि शिवसेना के पास संसद के उच्च सदन के लिए अपने दोनों उम्मीदवारों को निर्वाचित कराने की खातिर पर्याप्त संख्या है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने छत्रपति संभाजीराजे से कहा था कि उन्हें राज्यसभा के लिए किसी निर्दलीय उम्मीदवार का समर्थन करने को लेकर अपनी पार्टी के नेताओं से परामर्श करना होगा। राउत ने कहा, ‘‘राज्यसभा चुनाव के लिए किसी शिव सैनिक को दूसरे उम्मीदवार के रूप में उतारना पार्टी का निर्णय है।'' शुक्रवार को संभाजीराजे ने राज्यसभा चुनाव से पीछे हटने का फैसला किया।

 

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Editor

rajesh kumar

Related News

Recommended News