अगर पुलिस ये बड़ी गलती न करती तो बच सकती थी कन्हैया की जान, वायरल हुआ ये खत है इस बात का सबूत

punjabkesari.in Thursday, Jun 30, 2022 - 12:08 PM (IST)

नेशनल डेस्क: राजस्थान के उदयपुर में कन्हैयालाल हत्याकांड के बाद उत्पन्न तनाव के बाद लगाये गये सात थाना क्षेत्रों में कर्फ्यू आज तीसरे दिन भी जारी रहा। कर्फ्यू के दौरान शांति बनी हुई हैं और कहीं से कोई अप्रिय खबर नहीं हैं। शांति एवं कानून व्यवस्था बनाये रखने के लिए भारी पुलिस बल तैनात हैं। कर्फ्यू के दौरान आपातकालीन सेवाओं एवं परीक्षार्थियों को छूट प्रदान की गई हैं। उदयपुर में आज तीसरे दिन भी इंटरनेट सेवाएं बंद रही हैं। वहीं पूरे मामले में पुलिस की लापरवाही भी साफ देखी जा सकती है. मृतक कन्हैयालाल का एक पत्र सामने आया है जिसमें पुलिस से कन्हैया ने सुरक्षा की गुहार लगायी थी, लेकिन कार्रवाई करने के बजाए पुलिस ने दोनों पक्षों को पुलिस स्टेशन में बैठा कर समझौता करा दिया। हालांकि इस वारदात के बाद समझौता कराने वाले धानमंडी थाने के ASI भंवरलाल को सस्पेंड कर दिया गया है। 

PunjabKesari

उधर इस हत्याकांड के विरोध में आज हिन्दू समाज के संगठनों ने मौन जुलूस निकाला जा रहा है और यह जुलूस कलेक्ट्रेट पहुंचकर जिला प्रशासन को ज्ञापन देंगे। कर्फ्यू के चलते किसी तरह का अन्य प्रदर्शन नहीं होगा केवल मौन जुलूस निकाला जायेगा। इस अवसर पर मौजूद विधायक फूल सिंह मीणा ने कहा कि इस मामले के ऐसे अपराधियों को सरेआम फांसी दी जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि उदयपुर जैसे शांति क्षेत्र में यह आतंकवादी हमला हैं जिसने पूरे शांत वातावरण को दूषित कर दिया हैं। टाउन हाल पर जुलूस के लिए एकत्रित हुए लोगों का कहना है कि वे मौन जुलूस निकालकर मांग करेंगे कि इस मामले में जो तार जुड़े हुए हैं और यह विदेशी साजिश हैं जिसकी संपूर्ण जांच होनी चाहिए। उन्होंने बताया कि आने वाले समय लोकतांत्रिक तरीके से बड़ा आंदोलन खड़ा किया जायेगा। 

दर्जी कन्हैयालाल के परिवार से मिलेंगे मुख्गयमंत्री अशोक गहलोत 
राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत बृहस्पतिवार को दर्जी कन्हैयालाल के परिवार से मुलाकात करेंगे। दर्जी कन्हैयालाल की दो लोगो ने मंगलवार को चाकू से हमला कर हत्या कर दी थी। उदयपुर शहर में बृहस्पतिवार को भी कर्फ्यू जारी रहा। मोबाइल इंटरनेट सेवाएं भी बंद हैं। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत विशेष विमान से बृहस्पतिवार दोपहर करीब एक बजे उदयपुर पहुंचेंगे और दर्जी के परिजन से मुलाकात करेंगे। मुख्यमंत्री के साथ राजस्थान के गृह राज्य मंत्री राजेन्द्र यादव, मुख्य सचिव ऊषा शर्मा, पुलिस महानिदेशक एम. एल. राठौड़ और अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी उदयपुर पहुंचेंगे। वहीं, हिन्दू संगठनों के सदस्यों ने नृशंस हत्या के विरोध में उदयपुर के टाउन हॉल से कलेक्ट्रेट तक रैली निकालने की योजना बनाई है। 

‘सर्व समाज' ने रैली निकालने का आह्वान किया है। उदयपुर में कानून-व्यवस्था बनाये रखने के लिये भारी पुलिस बल तैनात किया गया है। दो अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक, एक उपमहानिरीक्षक और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों के दल शहर में स्थिति पर नजर बनाये हुए हैं। गौरतलब है कि दर्जी कन्हैयालाल की दो मुस्लिम युवकों ने चाकू से हमला कर हत्या कर दी थी और उन्होंने इस नृशंस हत्या का वीडियो बाद में सोशल मीडिया पर डाला था। दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। मामले की जांच अब राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) कर रहा है और राजस्थान पुलिस का आतंकवाद रोधी दस्ता (एटीएस) जांच में मदद कर रहा है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Anil dev

Related News

Recommended News