ओमिक्रॉन वैरिएंट से अंतरराष्ट्रीय यात्रियों पर सख्ती; भारत आने से पहले इन बातों का रखें ख्याल

punjabkesari.in Monday, Nov 29, 2021 - 12:24 PM (IST)

नेशनल डेस्क: कोरोना वायरस ने जिस तरह से शुरुआत में लोगों में दहशत बनाई थी अब कोविड के नए वेरिएंट ओमिक्रॉनको लेकर लोगो में उसी प्रकार की दहशत देखने को मिल रही है। वहीं केंद्र सरकार ने रविवार शाम को कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन को लेकर अंतर्राष्ट्रीय यात्रियों के लिए नई गाइडलाइंस जारी कर दीं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, अब अंतर्राष्ट्रीय यात्रियों को सफर शुरू करने से पहले अपनी ट्रैवल हिस्ट्री और नैगेटिव आर.टी.-पी.सी.आर. रिपोर्ट केंद्र सरकार के एयर सुविधा पोर्टल पर अपलोड करनी होगी। दक्षिण अफ्रीका, बोत्सवाना व हांगकांग से भारत आने वाले यात्रियों की एयरपोर्ट पर ही अनिवार्य रूप से आर.टी.पी.सी.आर. जांच होगी। इस दौरान उन यात्रियों को एयरपोर्ट के टर्मिनल में ही रहना होगा, जब तक कि रिपोर्ट नहीं आ जाती। रिपोर्ट के नतीजे नैगेटिव होंगे तभी यात्री टर्मिनल से निकल घर जा सकेंगे, जहां उन्हें 7 दिनों तक होम क्वारंटाइन में रहना होगा। वहीं, रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर यात्री को 10 दिनों के लिए सरकारी क्वारंटाइन सैंटर में जाना होगा। वहीं भारत आने से पहले इन बातों का जरूर रखे ख्याल। 
 

  • भारत आने वाले प्रत्येक अंतरराष्ट्रीय यात्री को एक नकारात्मक आरटी-पीसीआर परीक्षण रिपोर्ट दिखानी होगी। यदि इन दोनों में से कोई भी शर्त पूरी नहीं होती है तो वे भारत में प्रवेश नहीं कर सकते।
  • जोखिम वाले” देशों के लोग का टेस्ट होगा और उन्हें सात दिनों के लिए होम क्वारंटाइन में रहना होगा। आठवें दिन उनका फिर से परीक्षण किया जाएगा।
  • आरटी-पीसीआर परीक्षणों के लिए लोगों का रैंडम सैंपलिंग किया जाएगा यदि वे ऐसे देशों से आ रहे हैं जिन्हें जोखिम में नहीं माना जाता है। हालांकि, पॉजिटिव पाए जाने वाले किसी भी व्यक्ति के सैंपल जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए भेजे जाएंगे और व्यक्ति को क्वारंटाइन किया जाएगा।
  • ऐसे देशों से आने वालों को जोखिम में नहीं माना जाता है और जिनके नमूनों का परीक्षण नकारात्मक है, उन्हें सलाह दी गई है कि वे कम से कम दो सप्ताह तक खुद की सावधानीपूर्वक निगरानी करें।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Anil dev

Related News

Recommended News