देशभर में 25 लाख शादियां, ताक पर सोशल डिस्टेंसिंग...  कहीं आने वालें दिनों में कोरोना की वापसी का कारण न बन जाए?

11/23/2021 1:07:41 PM

नेशनल डेस्क: कोरोना का खतरा जहां पूरे देश में कम होता दिखाई दे रहा है वहीं इस साल 25 लाख शादियां होने वाली है जोकि कोरोना की वापसी का कारण न बन सकती है। दरअसल इस साल नवंबर और दिसंबर माह के दौरान शादी-विवाह या सगाई समारोहों में पिछले साल की समान अवधि की तुलना में अधिक लोगों के शामिल होने की उम्मीद है। लोकलसर्किल्स के सोमवार को जारी एक सर्वे में कहा गया है कि अब ऐसे लोगों की संख्या कम रह गई है, जो ऐसे समारोहों में शामिल होने से कोविड-19 संक्रमण का खतरा बढ़ने की बात मानते हैं। इस सर्वे में 17,000 से अधिक लोगों की प्रतिक्रिया ली गई। सर्वे के निष्कर्ष के अनुसार, नवंबर-दिसंबर की अवधि में 10 में से प्रत्येक छह भारतीय परिवारों के सगाई और शादियों में शामिल होने की संभावना है। इस अवधि में शादी या सगाई समारोहों में शामिल होने वाले लोगों की संख्या में तीन गुना की वृद्धि हुई है। 

सर्वे में कहा गया है कि इसकी मुख्य वजह देश में कोविड के घटते मामलों के साथ टीकाकरण की तीव्र गति भी है, जिसके चलते लोगों का भरोसा लौटा है। वर्ष 2020 में जब लोगों से इसी तरह का सवाल किया गया था, तो 35 प्रतिशत ने कहा था कि उन्हें शादी और सगाई समारोहों में भाग लेने का न्योता मिला है, लेकिन वे उसमें नहीं जा रहे हैं। इस बार ऐसा कहने वालों की संख्या घटकर मात्र 12 प्रतिशत रह गई। इस तरह के आयोजनों में शामिल होने पर कोविड-19 के जोखिम संबंधी एक सवाल पर समारोहों में शामिल होने की योजना बना रहे 76 प्रतिशत लोगों ने कहा कि कोविड के प्रसार का जोखिम औसत, कम या न के बराबर है। तीन प्रतिशत ने कहा कि इस तरह का कोई जोखिम नहीं है। वही दो प्रतिशत ने कोई राय नहीं दी। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Anil dev

Related News

Recommended News