इंसानों के बाद अब जानवरों को लगेगी कोरोना वैक्सीन, केंद्र सरकार ने तैयार की योजना

punjabkesari.in Saturday, Jan 22, 2022 - 10:55 AM (IST)

 नई दिल्ली: कोरोना वायरस के प्रभाव से बचने के लिए इंसानों के लिए तो वैक्सीन बन गई है लेकिन प्रकृति में संतुलन बनाए रखने के लिए जानवरों को बचाने को भी वैक्सीन जरूरी है। इसी कड़ी में भारत को एक बड़ी सफलता मिली है। हरियाणा के हिसार में स्थित केन्द्रीय अश्व अनुसंधान संस्थान के वैज्ञानिकों ने पशुओं के लिए कोरोना की पहली वैक्सीन तैयार कर ली है। अब केंद्र सरकार इस वैक्सीन का ट्रायल शेर और तेंदुए के ऊपर करने की योजना बना रही है। वहीं एक ट्रायल में 23 स्वान (कुत्तों) पर पहले ही इसका ट्रायल हो चुका है, जिसके बाद  21 दिनों के बाद सभी में एंटीबॉडी विकसित हुई है।

28 दिनों के अंतराल में लगाई जाएगी वैक्सीन
गुजरात के जूनागढ़ स्थित सक्करबाग चिड़ियाघर में शेरों के प्रजनन के लिए एक नोडल सुविधा है, जिसमें 70 से अधिक शेर और 50 तेंदुए हैं। जानकारी के मुताबिक यहां 15 जानवरों पर कोरोना वैक्सीन का ट्रायल किया जाएगा। इन जानवरों को 28 दिनों के अंतराल के साथ वैक्सीन का दूसरा डोज लगाया जाएगा। दूसरे डोज के बाद लगभग दो महीने तक जानवरों को एंटीबॉडी कैसे विकसित हो रही है इसकी निगरानी की जाएगी। चिड़ियाघर के निदेशक अभिषेक कुमार ने कहा कि केंद्र से अंतिम मंजूरी मिलने के बाद वैक्सीनेशन ट्रायल शुरू हो जाएगा।

15 शेरों की हुई थी डैल्टा वेरिएंट से मौत
गौरतलब है कि कुछ माह पहले चेन्नई के वंडालूर चिड़ियाघर में 15 शेरों की संक्रमण के कारण मौत हो गई थी। जांच में सामने आया था कि ये शेर डेल्टा वेरियंट से संक्रमित थे। इस वायरस के मनुष्यों से पशुओं में और फिर पशुओं से मनुष्यों में फैलने के कई अध्ययन सामने भी आए हैं। ऐसे में जानवरों में भी इसे नियंत्रित करना आवश्यक हो गया था। इसके बाद ही केंद्र सरकार ने जानवरों के लिए कोरोना वैक्सीन विकसित करने के निर्देश दिए थे।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Anil dev

Related News

Recommended News