भाजपा को नहीं सेना की चिंता, वोट के लिए जवानों की शहादत का कर रही इस्तेमाल: मुफ्ती

10/10/2019 2:53:13 PM

नेशनल डेस्क:  जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के ​बाद से नजरबंद महबूबा मुफ्ती ने मोदी सरकार पर बड़ा हमला बोला है। पूर्व मुख्यमंत्री ने आरोप लगाया कि भाजपा को न ही सेना के जवानों की चिंता है और न कश्मीरियों की, उसे सिर्फ चुनाव जीतने से मतलब है।

PunjabKesari

महबूबा ने वीरवार को ट्वीट कर कहा कि भाजपा वोट पाने के लिए जवानों की शहादत का इस्तेमाल करती है, लेकिन सच्चाई यह है कि यदि कश्मीरियों को तोपों के चारे के रूप में माना जाता है, तो घाटी में अशांति फैलाने के लिए सेना के जवान मोहरे बन गए हैं। उन्होंने सवाल किया कि अगर सब कुछ सामान्य है तो कश्मीर में 9 लाख (सेना की) टुकड़ियों की मौजूदगी की वजह क्या है। वे यहां पाकिस्तान की ओर से आशंकित हमले की वजह से नहीं बल्कि विरोध प्रदर्शनों को दबाने के लिए हैं। सेना की प्राथमिक जिम्मेदारी विरोध के स्वर को कुचलने की जगह सीमाओं को सुरक्षित रखने की है।

PunjabKesari

पूर्व मुख्यमंत्री ने एक अन्य ट्वीट में लिखा कि रिपोर्ट्स में कहा गया है कि रिहा किए गए नेताओं को बांड पर हस्ताक्षर करने के लिए मजबूर किया गया। आखिर किस कानून के तहत उनकी रिहाई की शर्त है, क्योंकि उनकी नजरबंदी पहले ही अवैध थी? कई नेताओं ने इन बांड पर साइन करने से साफ मना कर दिया। बता दें कि 2 महीने से नजरबंद कश्मीर के तीन नेताओं को आज किया गया है। मुफ्ती की इसे लेकर ही प्रतिक्रिया सामने आई है। 

PunjabKesari


vasudha

Related News