Assembly election: UP और पंजाब में BJP के कई नेताओं को मिली VIP सुरक्षा, जानिए लिस्ट में कौन-कौन

punjabkesari.in Wednesday, Feb 16, 2022 - 05:06 PM (IST)

नेशनल डेस्क: केंद्र सरकार ने उत्तर प्रदेश और पंजाब में लगभग दो दर्जन भाजपा नेताओं को सशस्त्र अर्धसैनिक कमांडो का VIP सुरक्षा कवच प्रदान किया है। अधिकारियों ने बुधवार को यह जानकारी देते हुए बताया कि केंद्रीय मंत्री एसपीएस बघेल को Z श्रेणी की सुरक्षा दी गई है जो उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव के विरुद्ध चुनाव लड़ रहे हैं। उत्तर प्रदेश और पंजाब में विधानसभा चुनाव की प्रक्रिया चल रही है। उन्होंने कहा कि इन दोनों राज्यों में कुछ प्रत्याशियों को निर्वाचन की प्रक्रिया समाप्त होने तक सुरक्षा प्रदान की गई है। कुछ लोगों को राज्य की पुलिस सुरक्षा के अलावा केंद्रीय कवच प्रदान किया जाएगा। 

 

इनको मिली सुरक्षा
केंद्रीय गृह मंत्रालय ने केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (CISF) और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) को इसका जिम्मा सौंपा है। दोनों अर्धसैनिक बलों के पास VIP सुरक्षा कमांडो हैं। बघेल के अलावा दिल्ली से भाजपा सांसद और गायक हंसराज हंस को भी Z श्रेणी की सुरक्षा दी गई है। बघेल उत्तर प्रदेश की करहल सीट से सपा प्रमुख अखिलेश यादव के विरुद्ध चुनाव लड़ रहे हैं। भाजपा ने मंगलवार को आरोप लगाया था कि सपा के गुंडों ने राज्य के मैनपुरी जिले में बघेल के काफिले पर हमला किया था।

 

उत्तर प्रदेश की भदोही लोकसभा सीट से भाजपा के सांसद रमेश चंद बिंद को उनके राज्य में CISF की X श्रेणी की सुरक्षा मिली हुई है। दोनों राज्यों में CRPF को कम से कम 20 नेताओं या प्रत्याशियों को सुरक्षा देने को कहा गया है। सूत्रों ने बताया कि पंजाब में सुखविंदर सिंह बिंद्रा, शिरोमणि अकाली दल (संयुक्त) के नेता और पार्टी के उम्मीदवार परमिंदर सिंह ढींढसा और अवतार सिंह जीरा को Y से Y+ श्रेणी की सुरक्षा दी गई है। सूत्रों ने कहा कि 10 मार्च को मतगणना के बाद सुरक्षा की समीक्षा की जाएगी।

 

VIP सुरक्षा की 6 कैटेगरी
VIP सुरक्षा के तहत छह कैटेगरी होती हैं, इनमें एक्स (X), वाई (Y), वाई-प्लस (Y-Plus) , जेड (Z), जेड-प्लस (Z-Plus) और स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप (Special Protection Group-SPG) शामिल हैं। SPG केवल प्रधानमंत्री की सुरक्षा प्रदान करती है, जबकि अन्य सुरक्षा श्रेणियों की सुरक्षा खुफिया विभाग के इनपुट के आधार पर किसी भी व्यक्ति को प्रदान की जा सकती है। प्रत्येक श्रेणी में सुरक्षाकर्मियों की संख्या अलग-अलग होती है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Seema Sharma

Related News

Recommended News