गांव के रसूखदार नेता दिल्ली में करते थे शर्मनाक काम, सच्चाई जान पुलिस के भी उड़े होश

10/10/2019 11:50:01 AM

नई दिल्ली: कमला मार्केट थाना पुलिस ने ओएलएक्स पर ठगी की वारदात को अंजाम देने वाले दो ठगों को गिरफ्तार किया है। दो ठग मेरठ के रहने वाले हैं व ग्राम प्रधान के चुनाव लड़ नेता बनना चाहते थे। लेकिन नेता बनते- बनते दोनों ने जल्द पैसा कमाने के चक्कर में ओएलएक्स पर ठगी की वारदात को अंजाम दे दिया।  दोंनों आरोपियों ने दिल्ली में लाखों रुपए की ठगी को अंजाम दिया और वारदात के बाद अपने गांव भाग गए। 

PunjabKesari

पुलिस ने किया दोनों आरोपियों को गिरफ्तार
कमला मार्केट थाना पुलिस ने मेरठ में उनके गांव से दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। आरोपी मेहताब और आकिब ने खुद बचने के लिए ठगी की रकम को अपने भाई के बैंक अकाउंट में भेज दिया था, लेकिन उनकी तरकीब काम न आई। 
 

PunjabKesari

कार बेचने के नाम पर की ठगी
आरोपियों ने ओएलएक्स पर एक गाड़ी का विज्ञापन डाला था और सुल्तान नाम के शख्स को गाड़ी बेचने के लिए दिल्ली बुलाया था। सुल्तान हैदराबाद के रहने वाले हैं और वह सिर्फ गाड़ी खरीदने के लिए आरोपियों के बुलाने पर दिल्ली आए थे। गाड़ी का सौदा 4.60 लाख रुपए में हुआ।


भाई के अकाउंट में मंगवाए 2 लाख
आरोपियों ने 2 लाख रुपए मेहताब के भाई अधर के बैंक अकाउंट में भिजवा दिए जबकि 2.60 लाख रुपए गाड़ी की डिलीवरी देने के बाद मिलने थे। आरोपियों ने 3 सितम्बर को कहा कि गाड़ी बेचने की एनओसी मिलने में एक दिन का वक्त लग रहा है। 
 

लड़ चुका है पंचायत चुनाव
इसके बाद सिपाही ललित को गांव में रेकी करने के लिए भेजा और मौका देखकर दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। पता चला कि आरोपी मेहताब पंचायत चुनाव लडऩे की तैयारी कर रहा है, जबकि आकिब चुनाव लड़ चुका है। हालांकि वह चुनाव हार गया था, लेकिन दोनों का ही गांव में रसूख हैं।
 

रात में 2.60 लाख रुपए लेकर हो गए फरार
आरोपियों ने गाड़ी खरीदने आए सुल्तान को पहाडग़ंज के एक होटल में कमरा लेकर वहां रोक दिया। आरोपी खुद भी उसके साथ ही रुक गए। रात में आरोपियों ने सुल्तान को सोता हुआ छोड़ दिया और 2.60 लाख रुपए लेकर फरार हो गया। सुबह जब सुल्तान को दोनों आरोपी नहीं मिले, तो उसने मामले की सूचना पुलिस को दी। जानकारी के बाद एसएचओ कमला मार्केट सुनील ढाका की देखरेख में एसआई निशांत दहिया, कान्स्टेबल जय सिंह, ललित की टीम को काम सौंपा गया। 


Edited By

Anil dev

Related News