भारत में कोरोना के टीकाकरण से पहले WHO की चेतावनी, दूसरा साल पहले से ज्यादा कठिन हो सकता है

2021-01-14T12:11:16.8

नेशनल डेस्क: देश में कोविड-19 के खिलाफ टीकाकरण अभियान के पहले दिन 16 जनवरी को करीब तीन लाख स्वास्थ्य कर्मियों को 2,934 केंद्रों पर टीके लगाए जाएंगे। प्रत्येक टीकाकरण सत्र में अधिकतम 100 लाभार्थी होंगे। लेकिन इस बीच विश्व स्वास्थ्य संगठन ने एक बयान जारी करते हुए कहा कि चेतावनी जारी की है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने चेतावनी देते हुए कहा कि कोरोना महामारी का दूसरा कार्यकाल पहले साल के मुकाबले और कठिन हो सकता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के हेल्थ इमरजेंसी प्रोग्राम के कार्यकारी निदेशक माइकल रेयान का कहना है कि कोरोना महामारी का दूसरा साल ट्रांसमिशन डायनामिक्स पर पहले की तुलना में ज्यादा बुरा हो सकता है। 

PunjabKesari


पहले दिन करीब तीन लाख स्वास्थ्य कर्मियों को लगेंगे टीके 
आपको बतां दे कि देश में कोविड-19 के खिलाफ टीकाकरण अभियान के पहले दिन 16 जनवरी को करीब तीन लाख स्वास्थ्य कर्मियों को 2,934 केंद्रों पर टीके लगाए जाएंगे। आधिकारिक सूत्रों ने यह जानकारी दी। प्रत्येक टीकाकरण सत्र में अधिकतम 100 लाभार्थी होंगे। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने राज्यों से कहा है कि वे च्प्रत्येक स्थल पर ज्यादा संख्या में टीकाकरण न करें। मंत्रालय ने बुधवार को बताया, राज्यों को सलाह दी गई है कि वे 10 फीसदी आरक्षित/बर्बाद खुराकों और रोजाना प्रत्येक सत्र में औसतन 100 टीकाकरण को ध्यान में रखते हुए टीकाकरण सत्रों का आयोजन करें। इसलिए राज्यों को सलाह दी जाती है कि प्रत्येक टीका केंद्र पर हड़बड़ी में तय सीमा से ज्यादा संख्या में लोगों को न बुलाएं। वहीं मंत्रालय ने राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को टीकाकरण सत्र स्थलों को बढ़ाने की सलाह दी है और उनके रोजाना संचालन की बात कही है ताकि टीकाकरण प्रक्रिया स्थिर हो सके और आगे सुचारू रूप से बढ़ सके। 


 


Edited By

Anil dev

Recommended News