मोदी,-बाइडेन वार्ता के बाद भारत और अमेरिका के बीच महत्वपूर्ण गठजोड़ की घोषणा

punjabkesari.in Wednesday, May 25, 2022 - 03:56 PM (IST)

इंटरनेशनल डेस्कः  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन के अधिक समृद्ध, मुक्त और सुरक्षित विश्व के लिये साथ मिलकर काम करने का संकल्प व्यक्त करने के बाद भारत और अमेरिका ने महत्वपूर्ण एवं उभरती प्रौद्योगिकियों के क्षेत्र में अपने सुरक्षा एजेंसियों के बीच सहयोग बढ़ाने के लिये अहम गठजोड़ की घोषणा की । प्रधानमंत्री मोदी ने भारत और अमेरिका के बीच संबंधों को ‘भरोसे की साझेदारी' बताया तथा दोनों नेताओं ने भारत-अमेरिका रक्षा एवं आर्थिक संपर्कों को और गहरा बनाने की प्रतिबद्धता व्यक्त की ।

 

एक महत्वपूर्ण कदम के तहत भारत और अमेरिका ने दीर्घकालिक टीका कार्रवाई कार्यक्रम (वीएपी) को वर्ष 2027 तक बढ़ा दिया । वहीं, व्हाइट हाऊस ने ‘संयुक्त सैन्य बल-बहरीन' में सहयोगी देश के रूप में भारत के शामिल होने की घोषणा की । तोक्यो में दोनों नेताओं के बीच बातचीत के बाद विदेश मंत्रालय ने कहा कि दोनों पक्षों ने महत्वपूर्ण एवं उभरती प्रौद्योगिकियों पर भारत-अमेरिकी पहल (आईसीईटी) की शुरूआत की जो कृत्रिम बुद्धिमता, क्वांटम कम्प्यूटिंग, 5जी, 6जी, बायोटेक, अंतरिक्ष और सेमीकंडक्टर जैसे क्षेत्रों में परिणामोन्मुखी सहयोग को सुगम बनाने के लिये है।

 

मंत्रालय ने कहा कि भारत और अमेरिका ने दीर्घकालिक टीका कार्रवाई कार्यक्रम (वीएपी) को वर्ष 2027 तक बढ़ाया है जो संयुक्त जैव चिकित्सा शोध को जारी रखने के लिये है । इसका परिणाम टीके के विकास और संबंधित प्रौद्योगिकी के रूप में सामने आया है। क्वाड शिखर सम्मेलन से इतर हुई इस बैठक में मोदी ने अमेरिकी उद्योगों को भारत में ‘मेक इन इंडिया' और ‘आत्मनिर्भर भारत' कार्यक्रम के तहत रक्षा क्षेत्र में भारत में निर्माण के लिये आमंत्रित किया । प्रधानमंत्री मोदी ने बाइडन से कहा, ‘‘भारत और अमेरिका के बीच रणनीतिक गठजोड़ सही मायने में भरोसे की एक साझेदारी है तथा यह मित्रता वैश्विक शांति एवं स्थिरता के लिये अच्छाई की ताकत के रूप में जारी रहेगी।''

 

उन्होंने कहा, ‘‘रक्षा एवं अन्य मामलों में हमारे साझा हितों और हमारे साझा मूल्यों ने विश्वास के हमारे बंधन को मजबूत किया है।'' बैठक के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने अपने ट्वीट में राष्ट्रपति बाइडन के साथ अपनी बैठक को ‘सार्थक' बताया । मोदी ने कहा, ‘‘अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडन के साथ सार्थक बैठक हुई। हमने कारोबार, निवेश, रक्षा, लोगों के बीच सम्पर्क सहित भारत-अमेरिका संबंधों के विविध आयामों पर आज व्यापक चर्चा की । '' वहीं, व्हाइट हाउस के बयान के अनुसार, बाइडन ने यूक्रेन के खिलाफ रूस के ‘‘अनुचित युद्ध'' की निंदा की।

 

उन्होंने कहा कि नेताओं ने इस बात पर चर्चा की कि युद्ध के कारण पैदा हुई बाधाओं, खास तौर पर ऊर्जा एवं खाद्यान्न की कीमतों में वृद्धि की समस्या को दूर करने के लिये कैसे सहयोग किया जाए। इसमें कहा गया है कि दोनों नेताओं ने ‘‘महत्वपूर्ण रक्षा गठजोड़' को गहरा बनाने, दोनों देशों के फायदे के लिये आर्थिक सहयोग को प्रोत्साहित करने तथा वैश्विक स्वास्थ्य गठजोड़, महामारी को लेकर तैयारी और महत्वपूर्ण एवं उभरती प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में साझेदारी को विस्तार देने को लेकर प्रतिबद्धता व्यक्त की ।  


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tanuja

Related News

Recommended News