pok पर सेना प्रमुख के बयान के बाद, अब मोदी के मंत्री ने भी जताई सहमति

1/14/2020 5:23:11 PM

नेशनल डेस्कः पिछले दिनों देश में pok को लेकर, जो बयान-बाजी का दौर चल रहा है। वह अभी रुकने का नाम नहीं ले रहा है। इसी क्रम में मोदी सरकार में रक्षा राज्य मंत्री श्रीपद नाईक ने कहा है कि, पीओके भारत का अभिन्‍न अंग है और सरकार सेना प्रमुख के बयान पर जरूर विचार करेगी। दरअसल, कुछ दिनों पहले भारतीय सेना के नए प्रमुख मनोज मुकुंद नरवणे ने कहा था कि अगर केंद्र सरकार आदेश करे, तेा सेना पीओके में कार्रवाई के लिए पूरी तरह से तैयार है। बता दें कि मोदी सरकार संसद में भी कई बार दावा कर चुकी है कि पीओके भारत का अभिन्‍न अंग है, और हम इसे लेकर रहेंगे। पिछले संसद सत्र में गृह मंत्री अमित शाह ने भी इस बात को दोहराया था।

सेना प्रमुख के इस बयान पर जब श्रीपद नाईक से उनकी प्रतिक्रिया पूछी गई तो उन्‍होंने कहा कि, यह मुद्दा  सरकार की वरीयका सूची में है। उन्‍होंने कहा कि हमारी सेना के जज्बे और बहादूरी से पूरी दुनिया वाकिफ है और हमें इस बात में कोई संशय नहीं होनी चाहिये कि हमारी सेना क्या कर सकती है। उन्होंने कहा कि, जनरल नरवणे का बोलना गलत नहीं है, लेकिन सरकार इस बात पर निश्चित तौर से गौर करेगी।

बता दें कि सेना प्रमुख ने कहा था कि यदि संसद चाहती है तो पीओके को कब्जे में लिया जाना चाहिए, तो सेना सरकार के आदेश के अनुसार कार्रवाई की करेगी। सेना इसके लिए पूरी तरह से सक्षम है और पीओके हमेशा भारत का अभिन्‍न अंग रहेगा।

ज्ञात हो कि, राजस्थान के अजमेर स्थित ख्वाजा मोइनुद्दीन हसन चिश्ती की दरगाह के दीवान सैयद जैनुल आबेदीन ने मनोज मुकुंद नरवणे के पाक कब्जे वाले कश्मीर पर दिए गए बयान का स्वागत किया था। आबेदीन ने कहा कि जब सेना तैयार है तो किस बात का इंतजार है। pok को भारत में शामिल करने के लिए भारतीय संसद को सेना को तुरंत आदेश देना चाहिए। दीवान ने यह बात एक वीडियो मैसेज के जरिए कही थी, जिसके बाद पूरे देश में उनकी काफी सराहना की जा रही है।

 


Edited By

Ashish panwar

Related News