किसानों से बातचीत करने को तैयार सरकार, गृह मंत्री अमित शाह का सामने आया बयान

2020-11-28T21:03:51.687

नेशनल डेस्कः सरकार ने दिल्ली कूच के लिए राजधानी के बाडर्रों पर डेरा जमाये बैठे आंदोलनकारी किसानों से दिल्ली पुलिस द्वारा निर्धारित स्थान पर एकत्र होने का अनुरोध करते हुए कहा है कि किसानों के इस स्थान पर आते ही उनकी मांगों और समस्याओं पर उनके साथ बातचीत की जायेगी। केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने किसान नेताओं से अपील की है कि उनके सीमाओं और राजधानी के बॉर्डरों पर एकत्र होने से आने जाने वाले लोगों तथा किसानों को भी असुविधा हो रही है। 
 

शाह ने कहा है कि सरकार किसानों ही हर समस्या तथा मांग पर उनके साथ बातचीत के लिए तैयार है और कृषि मंत्री ने इसके लिए तीन दिसम्बर की तारीख तय की है। उन्होंने कहा कि यदि किसान चाहते हैं कि सरकार उनसे तीन तारीख से पहले बात करे तो सभी किसान नेताओं से अनुरोध है कि वे किसानों को लेकर दिल्ली पुलिस द्वारा निर्धारित स्थान पर एकत्र हो जायें और सरकार तुरंत आपकी समस्याओं और मांगों पर बातचीत लिए तैयार है।  
 


गृह मंत्री ने किसान नेताओं से कहा है कि वे शांतिपूर्ण और लोकतांत्रिक तरीके से अपना आंदोलन जारी रखें और बातचीत को भी आगे बढायें लेकिन इसके लिए उन्हें निर्धारित स्थान पर एकत्र होना होगा इसमें किसानों को भी सुविधा रहेगी और सड़कों पर आने जाने वाले लोगों को भी सुविधा होगी। उन्होंने कहा कि वह किसान नेताओं को आश्वस्त करते हैं कि उनके यहां आते ही तुरंत उनके साथ बातचीत होगी। शाह ने कहा कि निरंकारी संत समागम मैदान में शौचालय , पानी और अन्य सुविधाओं के साथ साथ किसानों की सुरक्षा का भी उचित बंदोबस्त किया गया है। 

उल्लेखनीय है कि दिल्ली पुलिस ने किसानों से बुराड़ी के निकट स्थित निरंकारी संत समागम मैदान में एकत्र होने के लिए कहा है। किसानों ने अब तक इस मांग को नहीं माना है और वे राजधानी में इससे आगे जाकर सरकार तक अपनी बात पहुंचाने की मांग पर अड़े हैं। किसान संगठन हाल ही में सरकार द्वारा लाये गये तीन नये कृषि कानूनों को किसान विरोधी बताते हुए इनका विरोध कर रहे हैं।

 

 


Yaspal

Recommended News