See More

पुलवामा हमले के बाद भी सरकार ने बुलाई थी सर्वदलीय बैठक, हुई थी बालाकोट एयरस्ट्राइक

2020-06-17T18:43:13.183

नई दिल्लीः भारत और चीन के बीच पिछले कई दिनों से जारी तनाव अब चरण पर है। इसी संकट पर चर्चा करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सर्वदलीय बैठक बुलाई है। 19 जून की शाम पांच बजे प्रधानमंत्री मोदी वर्चुअल लिंक के लिए जरिए बड़े राजनीतिक दलों के प्रमुख नेताओं से बात करेंगे। इस दौरान मौजूदा हालात की जानकारी दी जाएगी। बता दें कि इससे पहले जब उरी में आतंकवादी हमला हुआ था और पुलवामा में आतंकी हमला हुआ था। तब भी मोदी सरकार की ओर से सर्वदलीय बैठक बुलाई गई थी।
PunjabKesari
पाकिस्तान समर्थित आतंकियों ने 14 फरवरी 2019 को पुलवामा में आतंकी हमला किया था, जिसमें CRPF के 45 जवान शहीद हो गए थे। इसके बाद 16 फरवरी को तत्कालीन गृह मंत्री राजनाथ सिंह की अगुवाई में सर्वदलीय बैठक हुई थी। इस बैठक में पुलवामा आतंकी हमले को लेकर पूरी जानकारी दी गई थी और भारत के कदम के बारे में बताया गया था। बता दें कि पुलवामा आतंकी हमले के बाद भारत ने बालाकोट में एयर स्ट्राइक की थी। वायुसेना ने बालाकोट स्थित पाकिस्तानी आतंकवादी संगठन जैश ए मोहम्मद के अड्डों को तबाह कर दिया था।
PunjabKesari
इसके अलावा 2016 में जब उरी में भारतीय सेना के कैंप पर हमला हुआ था, तब भी सरकार की ओर से सर्वदलीय बैठक बुलाई गई थी। बता दें कि उरी हमले के बाद भारतीय सेना ने बॉर्डर पार जाकर सर्जिकल स्ट्राइक की थी और आतंकियों की पोस्ट को तबाह कर दिया था।
PunjabKesari
अब जब चीन के साथ भारत के रिश्ते बिगड़े हैं और 20 जवान शहीद हो गए हैं। तब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से सर्वदलीय बैठक बुलाई गई है। बता दें कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी समेत विपक्ष के कई नेताओं ने इसकी मांग की थी और सरकार की स्थिति स्पष्ट करने को कहा था। गौरतलब है कि अभी तक इस मसले में सेना की ओर से आधिकारिक बयान आया है, जिसमें 20 जवानों के शहीद होने की पुष्टि की गई है। ऐसा करीब 45 साल के बाद हुआ है, जब भारत-चीन के बॉर्डर पर जवानों की जान गई है।

 


Yaspal

Related News