उन्नावः रेप पीड़िता के पिता का इलाज करने वाले डॉक्टर की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत

2020-01-13T20:19:45.52

नेशनल डेस्कः माखी उन्नाव रेप कांड पीड़िता के पिता का इलाज करने वाले जिला अस्पताल के डॉ. प्रशांत उपाध्याय की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। सीने में दर्द की शिकायत के बाद सोमवार को परिजन उन्हें अस्पताल लेकर पहुंचे, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। बता दें, डॉ प्रशांत वर्तमान में फतेहपुर में तैनात थे।

गौरतलब है कि माखी कांड मामले में पीड़िता के पिता की जेल में पिटाई के बाद डॉ प्रशांत ने ही उनका इलाज किया था। उस वक्त डॉ प्रशांत जिला अस्पताल के इमरजेंसी में तैनात थे। इलाज के बाद उन्होंने पीड़िता के पिता को रिलीव कर दिया था। जिसके बाद उनकी जेल में मौत हो गई थी।

परिजनों ने बताया कि आज सुबह उन्हें सांस लेने में तकलीफ हो रही थी। जिसके बाद उन्हें अस्पताल चलने के लिए कहा गया, लेकिन उन्होंने कहा- अभी नहीं। उसके बाद उनका शरीर ठंडा पड़ गया। जिसके बाद अस्पताल लेकर पहुंचे तो डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

इस मामले में सीबीआई जांच के बाद डॉ उपाध्याय को सस्पेंड किया गया था। काफी दिनों बाद अभी हाल ही में उन्हें तैनाती मिली थी। वे फतेहपुर में पोस्टेड थे। बताया जा रहा है कि वे शुगर के रोगी थे। फिलहाल उनके शव का पोस्टमार्टम करवाया जा रहा है।

मंगलवार को तीस हजारी कोर्ट में होनी है सुनवाई
बता दें, इस रेप पीड़िता के पिता की मौत के मामले में मंगलवार को दिल्ली के तीस हजारी कोर्ट में सुनवाई होनी है। इससे पहले कोर्ट ने रेप पीड़िता से रेप के मामले में बांगरमऊ से विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को उम्र कैद की सजा सुनवाई थी।


Yaspal

Related News