रॉयल्टी के नाम पर लूट , कौलपुर में लोगों ने ठेकेदार और प्रशासन के खिलाफ किया प्रदर्शन

2021-01-14T16:21:30.283

साम्बा (संजीव): निधार्रित से कहीं अधिक रॉयल्टी वसूले जाने से गुस्साए लोगों ने आज ठेकेदार के खिलाफ जोरदार प्रदर्शन किया। कौलपुर में गत दिवस खोले गए देवक नदी के माईङ्क्षनग ब्लॉक (1/11) से रेत भरने वाले वाहनों से 1200 रूपए प्रति सैंकड़ा (100 वर्ग फीट) के हिसाब से रॉयल्टी  वसूली जाने लगी तो वाहन आप्रेटरों और स्थानीय लोगों ने इसका विरोध शुरू कर दिया। आज दोबारा जब लोगों से 12 सौ रूपए प्रति सैंकड़ा के हिसाब से रॉयल्टी ली जाने लगी तो एक बार फिर से लोगों, जिनमें स्थानीय पंच-सरपंच भी शामिल रहे, ने विरोध प्रदर्शन किया। 

PunjabKesari
    ट्रांस्पोर्ट यूनीयन के अध्यक्ष (साम्बा, कठुआ और जम्मू जिला) नरेन्द्र सिंह चौधरी ने बताया कि कौलपुर ब्लॉक में रॉयल्टी के नाम 1200 रूपए की पर्ची काटी जा रही है। हालांकि सरकार की ओर से जारी आदेश में इसका रेट 2.5 रूपए प्रति फुट तय किया गया है जिसमें जीएसटी अलग से हैं। लेकिन ठेकेदारों द्वारा इससे कई गुणा अधिक रॉयल्टी ली जा रही है जिसका सारा बोझ ट्रांस्पोर्टरों और आम लोगों पर पड़ रहा है। मकान बनाने वाले लोगों को एक ट्राली रेत के लिए करीब 3000 रूपए चुकाने पड़ेंगे। चौधरी ने कहा कि राज्य में नवंबर 2019 से माईङ्क्षनग बंद थी जिसे अब जनवरी 2020 में आंशिक तौर पर खोला गया है। खनन बंद होने से ट्रैक्टर-ट्राली और टिप्पर आदि वाहनों के मालिक व ट्रांस्पोर्टर पहले ही परेशान हैं, ऐसे में मनमानी रॉयल्टी वसूले जाने से यह लोग और भी परेशानी में आगए हैं। लोगों ने बताया कि ठेकेदार द्वारा बिना रेट भरे रॉयल्टी की पर्ची काटी जा रही है और मनमानी की जा रही है। 

PunjabKesari

    वहीं इस संबंध में पूछे जाने पर जिला खनन अधिकारी कुलवंत सिंह ने बताया कि उन्हें इस बात की शिकायत मिली है जिसके बाद ठेकेदार को टेलिफोन पर आगाह किया गया है और नोटिस भी जारी कर दिया गया है कि निधार्रित से अधिक रॉयल्टी न ली जाए। लोगों ने नारेबाजी करते हुए कहा कि उपराज्यपाल और जिला के डिप्टी कमिश्रर इस बात का संज्ञान लें तथा इस अवैध वसूली को रोकें अन्यथा इसके गंभीर परिणाम होंगे। प्रदर्शन के दौरान पुलिस थाना प्रभारी रामगढ़ भी मौके पर पहुंचे और लोगों से बात की। 


Monika Jamwal

Recommended News