अरुणाचल के साथ लगती सीमा के निकट इंफ्रास्ट्रक्चर मजबूत कर रहा चीन, बसाए गांव...अलर्ट पर भारतीय सेना

punjabkesari.in Tuesday, May 17, 2022 - 09:26 AM (IST)

नेशनल डेस्क: पाकिस्तान के साथ चीन भी भारत के लिए लगातार बड़ी चुनौती का सबब बनता जा रहा है। ताजा जानकारी के मुताबिक सेना के पूर्वी कमान ने सोमवार को जानकारी दी कि अरुणाचल स्थित अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) लगातार अपनी गतिविधियों को बढ़ा रही है और सीमा पर सैन्य क्षमताओं के साथ बुनियादी ढांचे को लगातार बढ़ाने में लगा हुआ है। पूर्वी कमान के जनरल ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ लेफ्टिनेंट जनरल आर पी कलिता ने साथ ही कहा कि भारतीय पक्ष भी सीमा के पास हर प्रकार की संभावित स्थिति से निपटने की तैयारी के तहत अपने बुनियादी ढांचे को लगातार उन्नत कर रहा है।

 

उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि तिब्बत क्षेत्र में वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) के उस पार बुनियादी ढांचे के विकास संबंधी काफी काम हो रहा है। दूसरा पक्ष अपने सड़क, रेल और हवाई संपर्क साधनों के साथ-साथ 5जी मोबाइल नेटवर्क का लगातार उन्नयन कर रहा है, ताकि वे किसी भी स्थिति में प्रतिक्रिया देने या अपने बलों को लाने-ले जाने के लिए बेहतर स्थिति में हों। कलिता ने कहा कि चीनी प्राधिकारियों ने एलएसी के पास सीमावर्ती गांव विकसित किए हैं, ताकि उनका इस्तेमाल इन दोनों लक्ष्यों को पूरा करने के लिए किया जा सके।

 

उन्होंने कहा कि हम हालात पर लगातार नजर रख रहे हैं। हम भी हमारे बुनियादी ढांचे और क्षमताओं के साथ-साथ हालात से निपटने के लिए तंत्र का उन्नयन कर रहे हैं। इनसे हम मजबूत स्थिति में आ गए हैं। कलिता ने कहा कि इसके कारण भारत और चीन के बीच सीमा को लेकर अलग-अलग अवधारणाएं हैं, जिन पर दोनों पक्षों में सहमति नहीं है। हम अधिकतर समय मौजूदा तंत्र के माध्यम से स्थिति को संभाल लेते हैं, लेकिन कई बार इससे टकराव हो जाता है।

 

उन्होंने इस बात से इनकार किया कि चीन के साथ लगती सीमा पर कोई घुसपैठ हो रही है। उन्होंने कहा कि जो कुछ भी बताया जा रहा है, वह केवल अवधारणात्मक समस्या के कारण है। उन्होंने कहा कि 1962 के युद्ध के बाद से घुसपैठ का कोई मामला सामने नहीं आया है। उन्होंने कहा कि मुझे उम्मीद है कि उचित तरीके से सीमांकन हो जाने के बाद कोई समस्या नहीं होगी।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Seema Sharma

Related News

Recommended News